न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लोकसभा की धनबाद सीट पर कौन होगा उम्मीदवार, इस पर सत्ताधारी और विपक्षी दलों में मंथन जारी

971

Ranchi : लोकसभा चुनाव-2019 के नजदीक आते ही राजनीतिक दलों में हर सीट पर जीतनेवाले उम्मीदवारों पर मंथन शुरू हो चुका है. एक ओर सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी राज्य की सभी लोकसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों पर मंथन कर रही है, वहीं विपक्षी दल गठबंधन के भरोसे अपनी नैया पार करने की सोच रहे हैं. कभी लाल गढ़ रहा धनबाद लोकसभा क्षेत्र पिछले कई चुनावों से भगवामाय होता रहा है. यदा-कदा कांग्रेस के हाथ को भी जनता का साथ मिलता रहा है. 17वीं लोकसभा की तैयारी सभी रजनीतिक दलों ने शुरू कर दी है. ऐसे में चर्चा है कि आखिर इस सीट से कौन उम्मीदवार चुनाव जीतेगा. राजनीतिक सूत्रों की मानें, तो भाजपा भी अपना उम्मीदवार बदल सकती है. कौन होगा अगला उम्मीदवार, यह पार्टी अभी तक तय नहीं कर पायी है.

वहीं, महागठबंधन की ओर से अजय कुमार उम्मीदवार हो सकते हैं. धनबाद सीट पर यूपीए गठबंधन की ओर से कांग्रेस दावेदारी कर रही है. अगर डॉ. अजय कुमार इस सीट से चुनाव लड़ते हैं, तो पार्टी में ही विरोध का सामना करना पड़ सकता है. इस कारण महागठबंधन में मार्क्सवादी को-ऑर्डिनेशन कमिटी को भी साथ में रखने का प्रयास किया जा रहा है. कांग्रेस की ओर से इस सीट से अगर अजय कुमार चुनाव लड़ते हैं, तो राजेंद्र सिंह, मन्नान मलिक, ददई दुबे को दरकिनर करना होगा. यह भी हो सकता है कि इस सीट से कांग्रेस किसी नये चेहरे को भी समाने लाये.

इसे भी पढ़ें- धर्मांतरण मामले में विदेशी फंडिंग पर सीआईडी की रिपोर्ट आने के बाद भाजपा ने की इंटरपोल जांच की मांग

धनबाद सीट पर कब किस उम्मीदवार ने लाया कितना मत

13वीं लोकसभा के चुनाव में : 1999 में 13वीं लोकसभा के लिए हुए आम चुनाव में रीता वर्मा भारतीय जनता पार्टी उम्मीदवार को 366065 मत मिले, जो कुल मतदान का 48.07 प्रतिशत था और वह चुनाव जीतीं. वहीं, मार्क्सवादी को-ऑर्डिनेशन कमिटी के एके राय ने 351839 मत हासिल किये, जो कुल मतदान का 46.21% प्रतिशत था. वह दूसरे स्थान पर रहे. झामुमो को तीसरे स्थान से संतोष करना पड़ा.

14वीं लोकसभा के चुनाव में :  14वीं लोकसभा के लिए हुए आम चुनाव में धनबाद सीट पर कांग्रेस ने अपना परचम लहराया. कांग्रेस उम्मीदवार के रूप चंद्रशेखर दुबे ने 355499 मत लाकर चुनाव जीता. वहीं, दूसरे स्थान पर भाजपा की रीता वर्मा रहीं. वह 236121 मत ला सकीं. वहीं, धनबाद लोकसभा सीट पर धीरे-धीरे मार्क्सवादी को-ऑर्डिनेशन कमिटी के लाल झंडे की पकड़ कमजोर होती गयी. एके राय इस चुनाव में तीसरे स्थान पर आये और उन्हें मात्र 145470 वोट ही मिल सका.

इसे भी पढ़ें- नन प्रोफिटेबल संस्थानों, ट्रस्ट और धार्मिक संगठनों को स्कूल, अस्पताल खोलने के लिए रियायती दर पर दी…

15वीं लोकसभा के चुनाव में : 2009 में 15वीं लोकसभा के लिए हुए आम चुनाव में इस सीट पर भाजपा ने फिर से अपनी पकड़ मजबूत की. पार्टी ने अपने उम्मीदवार बदले. पार्टी की ओर से पशुपतिनाथ सिंह को उम्मीदवार बनाया गया. पशुपतिनाथ सिंह 207521 मत लाकर विजयी हुए, जो कुल मतदान का 32 प्रतिशत था. वहीं, इस सीट पर दूसरे स्थान पर कांग्रेस पार्टी के चंद्रशेखर दुबे रहे. उन्होंने 202474 मत प्राप्त किये, जो कुल मतदान का 24.89 प्रतिशत था. इस चुनाव में लालगढ़ कहलानेवाला धनबाद अब पूरी तरह मार्क्सवादी को-ऑर्डिनेशन कमिटी के हाथ से खिसक चुका था. बीएसपी की ओर से समरेश सिंह 132445 मत लाकर तीसरे स्थान पर रहे.

इसे भी पढ़ें- राज्य भर के दिव्यांगजनों को हर महीने राशन मिले, यह सुनिश्चित करना मेरी प्राथमिकता : मुकेश महतो

16वीं लोकसभा के चुनाव में : 2014 में 16वीं और वर्तमान लोकसभा के लिए आम चुनाव मोदी लहर के बीच हुआ. धनबाद सीट से पशुपतिनाथ सिंह ने अपनी जीत को जारी रखा. पशुपतिनाथ सिंह 573491 मत लाकर चुनाव जीते, जो कुल मतदान का 47.51 प्रतिशत था. दूसरे स्थान पर अजय कुमार दुबे रहे. उन्हें 250537 मत मिले, जो कुल मतदान का 21.90 प्रतिशत था. मार्क्सवादी को-ऑर्डिनेशन कमिटी की ओर से आनंद महतो चुनाव लड़े और वह तीसरे स्थान पर रहे. उन्हें 110185 मत मिले. धनबाद सीट पर मासस अपनी तकत बढ़ाने में लागी हुई है. 2019 के चुनाव में पार्टी उम्मीदर देगी या नहीं, यह तय नहीं है. 2019 के आम चुनाव में जीत का सेहरा किस पार्टी के सिर बंधता है, वह धनबाद की जनता ही तय करेगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: