न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

थर्मल पावर प्लांट के लिए पानी बड़ी चुनौती, तीन पावर प्लांट को चाहिए 48 हजार क्यूबिक मीटर पानी/ घंटा

पतरातू डैम का घटा आकार- 104 मिलियन क्यूबिक मीटर से घटकर 89 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी ही बचा, पीटीपीएस, तिलैया और देवघर में स्थापित होना है 4000-4000 मेगावाट का थर्मल पावर प्लांट

372

Ranchi: राज्य में लगने वाले तीन अल्ट्रा मेगा पावर प्लांट के लिए पानी की उपलब्धता बड़ी चुनौती बन सकती है. राज्य सरकार और एनटीपीसी की ज्वाइंट वेंचर कंपनी पतरातू विद्युत निगम लिमिटेड पतरातू में 4000 मेगावाट का थर्मल पावर प्लांट स्थापित कर रही है. इसके अलावा तिलैया और देवघर में 4000 मेगावाट का पावर प्लांट प्रस्तावित है. इस हिसाब से 12 हजार मेगावाट का पावर प्लांट स्थापित किया जाना है. अगर ये तीनों प्लांट एक साथ चलें, तो प्रति घंटा 48 हजार क्यूबिक मीटर पानी की जरूरत होगी.

पतरातू थर्मल पावर प्लांट के लिए भी है  पानी चुनौती

पतरातू थर्मल पावर प्लांट के लिए भी पानी बड़ी चुनौती है. इस नये पावर प्लांट को 119 क्यूसेक पानी की जरूरत होगी. लेकिन पतरातू डैम में सिर्फ 60 क्यूसेक पानी उपलब्ध है. इसकी वजह बताई जा रही है कि वर्तमान में पतरातू डैम का आकार घट गया है. पहले डैम में 104 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी उपलब्ध था. लेकिन अब घटकर 89 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी ही रह गया है. फिलहाल पतरातू डैम 4000 मीटर लंबा, 1100 मीटर चौड़ा और 20 मीटर गहरा है.

ऐसा है पानी का गणित

1000 मेगावाट के पावर प्लांट को चलाने के लिये 4000 क्यूबिक मीटर प्रति घंटा पानी की जरूरत होती है. एक क्यूबिक मीटर के बराबर एक हजार लीटर पानी होता है. इस हिसाब से 12 हजार मेगावाट के लिए प्रति घंटा 48 हजार क्यूबिक मीटर पानी की जरूरत होगी. बिजली उत्पादन होने के क्रम में यह पानी 40 फीसदी तक नष्ट हो जाता है. वहीं 12,000 मेगावाट के पावर प्लांट को चलाने के लिए प्रति घंटा लगभग 64 हजार रुपये का भी शुल्क देना होगा. अगर 24 घंटा 12 हजार मेगावाट का प्लांट चले तो इसके लिए 15.36 लाख रुपये भुगतान करना होगा.

किस पावर प्लांट को प्रति घंटा कितने क्यूबिक मीटर पानी की जरूरत

कोडरमा(डीवीसी)- 1000 मेगावाट- 4000 क्यूबिक मीटर प्रति घंटा

एनटीपीसी(नॉर्थ कर्णपुरा)-1980 मेगावाट-7920 क्यूबिक मीटर प्रति घंटा

पतरातू(एनटीपीसी)- 4000 मेगावाट-16000 क्यूबिक मीटर प्रति घंटा(निर्माण शुरू)

तिलैया- 4000 मेगावाट- 16000 क्यूबिक मीटर प्रति घंटा( प्रस्तावित)

देवघर- 4000 मेगावाट-16000 क्यूबिक मीटर प्रति घंटा(प्रस्तावित)

टीवीएनएल- 1320-4500 क्यूबिक मीटर प्रति घंटा( विस्तारीकरण प्रस्तावित)

किस प्लांट को कहां से पानी की स्वीकृति

टीवीएनएल- तेनुघाट डैम
पतरातू- पतरातू डैम व नलकरी नदी
डीवीसी- तिलैया डैम
तिलैया प्लांट- तिलैया डैम

इसे भी पढ़ेंः पांच एमवीआई और आठ माप तौल निरीक्षक के भरोसे राज्य

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: