Education & CareerJharkhandRanchi

राज्य के 136 बीएड कॉलेज नामांकन शुरू करने का कर रहे इंतजार, विभाग ने अब तक नहीं दी है अनुमति

विज्ञापन

Ranchi  : राज्य के सात विश्वविद्यालय के अंतर्गत 136 बीएड कॉलेज हैं. ये बीएड कॉलेज नामांकन शुरू करने का इंतजार कर रहे हैं. बीते 12 सितंबर को मुख्यमंत्री ने उच्च व तकनीकी शिक्षा विभाग के साथ समीक्षा बैठक की थी. इस बैठक में राज्य में संचालित बीएड कॉलेजों में मेरिट के आधार पर एडमिशन लेने पर बात बनी थी.

पर 10 दिन से अधिक बीत जाने के बाद भी विभाग की ओर से अनुमति पत्र नहीं मिल पाने की वजह से नामांकन शुरू नहीं हो पाया है. बीएड कॉलेजों के प्रबंधक इस बात को लेकर असमंजस में हैं कि उन्हें नामांकन की प्रक्रिया शुरू करनी है नहीं.

इसे भी पढ़ेंः पलामू : मामले का निपटारा कर दो बेटियों की जिंदगी तबाह होने से बचायी

advt

टेस्ट से होना था नामांकन

राज्य के बीएड कॉलेजों में एडमिशन टेस्ट के माध्यम से नामांकन लेना है. इस एडमिशन टेस्ट लेने की जिम्मेदारी झारखंड कंबाइंड एग्जामिनेशन बोर्ड के जिम्मे है. झारखंड कंबाइंड एग्जामिनेशन बोर्ड की ओर से एडमिशन टेस्ट लेने के लिए उम्मीदवारों से आवेदन भी लिये जा चुके हैं. ऑनलाइन आवेदन जमा करने के लिए दो बार एप्लीकेशन की तारीख भी बढ़ायी गयी थी. राज्य के 136 बीएड कॉलेजों में 13600 सीट हैं. जहां नामांकन के लिए 60 हजार से अधिक लोगों ने आवेदन किया है.

आवेदन शुल्क के रूप में प्रति उम्मीदवार 1000 रुपये भी लिये गये हैं. इस तरह से आवेदन शुल्क के रूप में झारखंड कंबाइंड के पास छह करोड़ से अधिक रुपये जमा हैं. वहीं मेरिट के आधार पर एडमिशन लिए जाने की बात से एंट्रेंस टेस्ट के लिए आवेदन कर चुके उम्मीदवारों को फीस वापसी की चिंता भी सता रही है.

इसे भी पढ़ेंः बिहार विधानसभा चुनाव: NDA में सीटों का बंटवारा तय, 2010 के फॉर्मूले पर सहमति

2019 में शुरू हुआ एडमिशन टेस्ट

राज्य के बीएड कॉलेजों में एडमिशन टेस्ट के माध्यम से नामांकन की प्रक्रिया बीते साल ही शुरू हुई थी. रिजल्ट जारी करने के बाद एडमिशन के लिए पहले फिजिकल फिर ऑनलाइन काउंसलिंग कराया गया था. काउंसलिंग की जिम्मेदारी रांची विवि को मिली थी. बीएड कॉलेजों के संख्या की बात करें तो रांची विवि में 26, विनोबा भावे विवि में 25, सिद्धो-कान्हू मुर्मू विवि में 14, नीलांबर-पीतांबर विवि में 14 सहित अन्य विश्वविद्यालयों में 50 से अधिक बीएड कॉलेज हैं.

adv

इसे भी पढ़ेंः Ranchi: बिलिंग एजेंसियों को बदलने की तैयारी में है JBVNL

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button