Crime NewsGiridihJharkhand

दबंगों ने दो दलितों को पेड़ से बांध कर पीटा, पंचायत के मुखिया भी देखते रहे

Giridih. दबंगों द्वारा दो दलित युवकों की पिटाई का मामला सामने आया है. दोनों दलित युवकों को मवेशी मारने का आरोप लगाकर दबंगों ने पेड़ में बांध कर पीटा है. दबंगों ने दोनों के घर जलाने की धमकी देते हुए 60 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है.

दबंगों द्वारा 60 हजार का लगाएं गए जुर्माना का समर्थन सेनादोनी के मुखिया बालेशवर यादव ने भी किया था. गिरिडीह के मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के सेनादोनी के घघरडीह गांव के डंडोडीह टोला में हुई यह शर्मनाक घटना 29 जुलाई की है. लेकिन मामला शनिवार की सुबह सामने आया. इसके बाद मुफ्फसिल थाना पुलिस हरकत में तो आई. आनन-फानन में पीड़ित दोनों युवकों में एक परमानंद के आवेदन पर केस दर्ज कर लिया.

 

इसे भी पढ़ें- कुएं में मिला महिला और बच्चे का शव, हत्या या आत्महत्या जांच में जुटी पुलिस

 

जिसमें थाना कांड संख्या 192/20 में मुखिया बालेशवर यादव समेत टोला के 18 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया. लेकिन पुलिस अभी भी जांच में जुटे होने की बात कहकर आरोपियों को गिरफ्तार तक नहीं कर रही है. इधर जिन युवकों के साथ घटना हुई, उनकी पहचान परमानंद व उसके दोस्त के रुप में हुई है.

मुखिया ने भी किया समर्थन
गांव के दबंगों ने सेनादोनी पंचायत के मुखिया बालेशवर यादव के मौजदूगी में दोनों युवकों को घंटों पेड़ में बांधे रखा. इस दौरान टोला के दंबग युवकों ने दोनों युवकों से थूककर चटवाया भी. दबंग युवकों और इनका सहयोग करने वाले टोला के ग्रामीणों की पहचान कर मुफ्फसिल थाना में केस दर्ज कर लिया गया है. इधर टोला में हुई घटना का मुखिया ने कोई विरोध तक नहीं किया. सिर्फ पंचायत लगाकर मुखिया दबंगों की बातों को सुनते रहे. मामला सामने आने के बाद पुलिस हरकत में आई

घटना स्थल पर पहुंचे एसपी
रविवार दोपहर एसपी अमित रेणु और एसडीपीओ कुमार गौरव भी पुलिस जवानों के साथ घटनास्थल पहुंचे. घटना के विरोध में मुफ्फसिल थाना में 18 नामजद आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है. इसमें सेनादोनी के मुखिया भी शामिल हैं.

जानकारी के अनुसार घघरडीह गांव के डंडोडीह टोला के दो दलित युवकों पर मवेशी मारने का आरोप लगाकर टोला के दंबग पहले दोनों युवकों को पूरे टोला में दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। दोनों पीड़ित युवकों पर झूठा आरोप लगाकर करीब सौ की संख्या में दंबगो ने दोनों युवकों की पिटाई करने के बाद पेड़ से बांधे रखा

मुखिया ने दी सफाई
इधर मुखिया बालेशवर यादव ने अपने बचाव में दलील देते हुए कहा कि उनके सामने पीड़ित युवकों को थूककर नहीं चटवाया गया. यह सही है कि उनके सामने पेड़ से बांधा गया था. दोनों पीड़ित युवकों को वही पेड़ से खुलवाएं थे.

Advertisement

6 Comments

  1. Yogi Ji is per bhi Dhyan dijiye
    Dalit Daroga wale case mein toh bada sangyan mein le rahe the ushe

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close