Crime NewsJamshedpurJharkhand

11 हजार वोल्ट के हाइटेंशन तार की चपेट में आकर तीन बच्चों व एक वृद्धा की मौत

Jamshedpur: झारखंड सरकार के निर्देश के बाद आज पूरे राज्य में वीकेंड लॉकडाउन है. जमशेदपुर में भी इसका सख्ती से पालन किया जा रहा है. इसके बीच जमशेदपुर से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आ रही है. जहां एमजीएम थाना अंतर्गत पीपला स्थित एक चेक डैम में जर्जर हो चुके 11 हजार वोल्ट का हाईटेंशन तार गिरने से उसकी चपेट में आकर तीन बच्चे और एक वृद्धा की मौत हो गई.

घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गई. आनन-फानन में सभी को एमजीएम अस्पताल लाया गया, जहां चिकित्सकों ने सभी को मृत घोषित कर दिया.

बताया जा रहा है कि सभी चेक डैम में नहा रहे थे. इसी बीच 11 हजार वोल्ट का तार गिर गया. मृतकों में 13 वर्षीय रोहित महतो, 18 वर्षीय कमल महतो, 16 वर्षीय विमल महतो और 70 वर्षीय महिला फूलो देवी शामिल हैं. इनमें दो सगे भाई बताए जा रहे हैं.

उधर मामले की जानकारी मिलते ही जमशेदपुर सांसद विद्युत वरण महतो और जुगसलाई विधायक मंगल कालिंदी एमजीएम अस्पताल पहुंचे और मृतकों के परिजनों को ढाढ़स बंधाया. जमशेदपुर सांसद विद्युत वरण महतो ने मृतकों के आश्रितों को तत्काल 10- 10 लाख रुपए का मुआवजा दिए जाने की मांग झारखंड सरकार से की है.

advt

उन्होंने बताया कि कई बार दिशा की बैठक में उन्होंने जिले के उपायुक्त से ग्रामीण इलाकों में जर्जर हो चुके बिजली के तारों को बदलने का निर्देश दिया था. बावजूद इसके उनकी बातों पर अमल नहीं किया गया.

उन्होंने झारखंड सरकार और बिजली विभाग को इसके लिए दोषी ठहराया है. साथ ही सांसद ने मृतकों के परिजनों को 10-10 हजार रुपए का तत्काल आर्थिक सहयोग दिया.

वहीं जुगसलाई विधायक मंगल कालिंदी ने भी इसे बिजली विभाग की लापरवाही बताते हुए पीड़ित परिवार को उचित मुआवजा दिलाए जाने की बात कही. घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने NH33 जाम कर दिया.

इसे भी पढ़ें – रिम्स के दो डॉक्टर शिक्षा मंत्री को लाने जाएंगे चेन्नई

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: