न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Mauritania में 10 दिनों से पड़ा है बेरमो के सुरेंद्र महतो का शव, परिजनों ने लगायी मदद की गुहार

802

Gomia: बेरमो अनुमंडल के उग्रवाद प्रभावित चतरोचट्टी थाना क्षेत्र के बडकी सीधाबारा ग्राम निवासी सुरेन्द्र महतो का शव 10 दिन के बाद भी स्वदेश नहीं लौट सका है. 12 फरवरी को दक्षिण अफ्रीका के मरुतानिया में सुरेंद्र की मौत हो गयी थी.

पति के शव को दक्षिण अफ्रीका से मंगाने को लेकर सुरेंद्र की पत्नी सावित्री देवी गुहार लगा रही हैं. सावित्री ने बताया कि परिवार की खराब आर्थिक स्थिति को देखते हुए सुरेन्द्र महतो दक्षिण अफ्रीका के मरुतानिया गये थे.

इसे भी पढ़ें : #Palamu: 80 लाख की निकासी के बाद भी 5 पंचायतों में नहीं बने 666 शौचालय, मुखिया पर होगी प्राथमिकी 

कंपनी की लापरवाही

वहां केपीटीएल नामक ट्रांसमिशन कंपनी में कार्यरत थे. इसी बीच अचानक 12 फरवरी को उनकी मौत का समाचार मिलने पर पूरे परिवार पर दुःखों का पहाड़ टूट पड़ा.

पत्नी का कहना है कि उनके पति की मौत कंपनी की लापरवाही से हुई हैं. मौत को लगभग दस दिन हो गये. अभी तक मरूतानिया से उसके पति का शव स्वदेश नहीं पहुंच सका है. इस बीच गुरुवार को दादा ससूर पोखो महतो की भी मौत हो गयी.

Whmart 3/3 – 2/4

शव लौटने के संबंध में कंपनी के द्वारा कोई सार्थक जवाब न मिलने से परिवार हैरान परेशान है. बताया कि उनकी बेटी रीता कुमारी (10), गीता कुमारी (05) और मात्र तीन साल का मासूम बेटा बादल कुमार के लालन-पालन व पढाई-लिखाई को लेकर वह काफी चिंतित है.

इसे भी पढ़ें : #Ranchi: बरियातू में नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में दो आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा

संगठन करेगा प्रयास

शनिवार को प्रवासी संगठन के संचालक सिकन्दर अली ने मृतक सुरेन्द्र महतो के परिजनों से मिलकर परिवार को ढांढस बंधाया.

घटना की पूरी जानकारी लेते हुए उन्होंने आश्वस्त किया कि इस मामले में वे कवायद करेंगे. वहीं कल्पतरू कंपनी से उचित मुआवजा दिलाने का भी प्रयास करेंगे.

इसे भी पढ़ें : खेल प्रशिक्षकों के लिए 20 सालों में नहीं बनी नियोजन नियमावली, कैसे मिलेंगे द्रोणाचार्य?

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like