Education & CareerJharkhandTOP SLIDER

छात्र ध्यान दें, बदल जायेगा NEET और JEE Main का सिलेबस

एनटीए की नीट और जेईई मेन परीक्षा के सिलेबस में बदलाव संभावित, जल्द जारी होगा नया सिलेबस

Ranchi : कोरोना के मद्देनजर केंद्रीय शिक्षा विभाग स्टूडेंट्स के हित में एक बार फिर बड़ा फैसला लेने जा रहा है. यह फैसला नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की ओर से लिये जाने वाले दो बड़ी परीक्षा को लेकर लिया जायेगा. दरअसल केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल की सीनियर अधिकारियों के साथ बैठक हुई थी. इसी बैठक में नीट और जेईई परीक्षा को लेकर निर्णय लिया गया है. कयास लगाया जा रहा है कि निर्णय से संबंधित जानकारी जल्द ही साझा की जा सकती है.

इसे भी पढ़े : कोडरमा : झारखंड पब्लिक स्कूल को सीबीएसई से मिली मान्यता

दूसरी परीक्षाओं के सिलेबस में भी बदलाव संभावित

केंद्रीय शिक्षामंत्री की इस विशेष बैठक में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) नीट, जेईई मेन समेत कई परीक्षाओं का नया सिलेबस जारी करने पर विचार बना है. एनटीए वर्ष में जेईई मेन, नीट, सीमैट, जीपैट, यूजीसी नेट जैसी कई परीक्षाएं आयोजित करता है. बैठक में तय किया गया कि एनटीए देश के स्कूली शिक्षा बोर्डों से जुड़े समकालीन हालात का जायजा लेने के बाद प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए सिलेबस लायेगी. वहीं विश्वविद्यालय अनुदान आयोग को भी सभी छात्रवृत्तियों, फेलोशिप आदि को समय पर देने को कहा गया है. साथ ही साथ इससे संबंधित हेल्पलाइन शुरू करके छात्रों की सभी समस्याओं का तुरंत समाधान करने को कहा गया है.

इसे भी पढ़े : रेलवे भर्ती बोर्ड की परीक्षा 15 दिसंबर से, दस दिन पहले जारी किया जायेगा एडमिट कार्ड

नौ क्षेत्रीय भाषाओं में परीक्षा लेने की हुई है घोषणा

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की ओर से पिछले महीने परीक्षा से संबंधित एक बड़ा फैसला लिया गया है. इस फैसले में एनटीए ने हिंदी और अंग्रेजी के सहित नौ क्षेत्रीय भाषाओं में जेईई की मुख्य परीक्षा कराने की घोषणा की है. पर इस बाबत आईआईटी बोर्ड ने निर्णय नहीं लिया है कि जेईई एडवांस की परीक्षा भी क्षेत्रीय भाषाओं में करायी जायेगी या नहीं. इसके अतिरिक्त जो संभावना जतायी जा रही है वो यह है कि जेईई की मुख्य परीक्षा को जनवरी के बजाय फरवरी में कराया जायेगा.

एनटीए परीक्षाओं से जुड़े और इसकी जानकारी रखने वाले राज्य के अधिकारी अरविंद श्याम ने बताया कि इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में अगले एकेडमिक इयर से इंजीनियरिंग की पढ़ाई मातृ भाषा में करायी जायेगी. इसके लिए कुछ आईआईटी और एनआईटी को चुना जा रहा है.

इसे भी पढ़े : उदास चेहरों पर मुस्कान लाने के लिए शुरू हुआ ‘मिशन स्माइल’, आप भी बंटा सकते हैं हाथ

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: