GiridihJharkhandTOP SLIDER

पेड़ पर लटका मिला था छात्रा का शव, अब हत्या के एंगल पर हो रही जांच, दोस्त है शक के दायरे में

पोस्टमार्टम जांच रिपोर्ट को रखा रिजर्व में, बिसरा जांच के लिए भेजा जाएगा फॉरेंसिक लैब

Giridih: गिरिडीह के मैगजीनिया गांव के पेड़ से मुस्कान कुमारी नामक जिस छात्रा का शव लटका मिला था, वह सुसाइड के बजाय हत्या का मामला हो सकता है. गिरिडीह मुफ्फसिल थाना पुलिस को अब तक की जांच में जो सुराग मिले हैं, उससे इस तरह की आशंका को बल मिल रहा है.

अब तक जांच में पुलिस को फिलहाल यही जानकारी मिली है कि छात्रा मुस्कान को मानसिक रुप से प्रताड़ित किया जा रहा था. प्रताड़ित करने में छात्रा के एक दोस्त का नाम सामने आया. पुलिस के अनुसार छात्रा मुस्कान कुमारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट को फिलहाल जांच के लिए रिजर्व में रखा गया है. दूसरी तरफ छात्रा का बिसरा जांच के लिए विधि-विज्ञान प्रयोगशाला भेजने की तैयारी हो रही है. बिसरा जांच रिपोर्ट को भी आने में काफी वक्त लगने की उम्मीद है, जबकि पुलिस का दावा है कि अगले कुछ दिनों में पूरा मामला स्पष्ट हो जाएगा.

advt

छात्रा के पिता ने दर्ज कराया था दोस्त पर मामला

इस बीच छात्रा मुस्कान के पिता दिनेश पांडेय ने मुफ्फसिल थाना में उसके दोस्त के खिलाफ मानसिक रुप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाकर केस भी दर्ज कराया था. पिता के दिए आवेदन पर पुलिस ने थाना कांड संख्या 315/20 दर्ज कर उस मोबाइल धारक को नामजद अभियुक्त बनाया.

इसी नंबर से छात्रा को अंतिम कॉल गया था. इधर अब तक की जांच के आधार पर ही शक की सुई छात्रा मुस्कान के उसी दोस्त की ओर जा रही है, जिसने घटना के दिन अहले सुबह फोन कर उसे कोंचिग आने को कहा था. वैसे पुलिस ने इस मामले में छात्र और मृतका मुस्कान के दोस्त से अब तक पूछताछ भी नहीं कर पाई है. अनुसंधानकर्ता का कहना है कि जल्द ही उसके दोस्त से पूछताछ होगी.

छात्रा को इंसाफ दिलाने आगे आयीं संस्थाएं

बता दें कि चार दिन पहले मैगजीनिया गांव के एक पेड़ पर जमुआ के चरघरा निवासी और लंगटा बाबा कॉ लेज के लेक्चरर दिनेश पांडेय की किशोरी बेटी मुस्कान कुमारी का शव पेड़ से लटका हुआ मिला था. छात्रा शहर के न्यू बरगंडा रोड स्थित अपने चाचा के घर रहकर एक कोंचिग इन्स्टीच्यूट में पढ़ाई करती थी. इधर मुस्कान कुमारी को इंसाफ दिलाने के लिए ब्राह्मण महासंघ के अलावे कई समाजिक संस्थाएं आगे आयी हैं. इस बाबत डीसी को ज्ञापन सौंपा गया है और पूरे मामले की जांच निष्पक्ष तरीके से करने की मांग की गयी है.

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: