न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

स्टूडेंट्स का आरोप- प्रैक्टिकल एग्जाम के नाम पर स्टूडेंट्स से पांच हजार तक वसूल रहे निजी बीएड कॉलेज

159

Ranchi : रांची विश्वविद्यालय (आरयू) द्वारा फाइनल ईयर के छात्रों की लिखित परीक्षा हाल ही में संपन्न करायी गयी है. लिखित परीक्षा खत्म होने के बाद इन छात्रों की अभी प्रायोगिक परीक्षा चल रही है. आरोप लग रहा है कि प्रायोगिक परीक्षा के नाम पर निजी बीएड कॉलेज छात्र-छात्राओं से अवैध वसूली कर रहे हैं. एनएन घोष बीएड कॉलेज की छात्रा सविता ने न्यूज विंग को बाताया कि प्रायोगिक परीक्षा के नाम पर इन कॉलेजों द्वारा खानापूर्ति की जाती है, लेकिन इस परीक्षा के नाम पर छात्र-छात्राओं से दो से पांच हजार रुपये तक की वसूली की जाती है. वहीं, फातिमा बीएड कॉलेज के छात्र रोहित महतो ने कहा कि कॉलेज प्रायोगिक परीक्षा के माध्यम से छात्रों को निशाना बनाकर उनकी आर्थिक स्थिति का आकलन करते हुए छात्रों से दो से पांच हजार रुपये तक की वसूली की जाती है.

इसे भी पढ़ें- राजधानी में जमीन पर कब्जा करने का चल रहा खेल, हो रही हैं हत्याएं

अतिथि शिक्षकों के नाम पर स्टूडेंट्स से पैसे वसूलते हैं बीएड कॉलेज

बीएड कोर्स में स्टूडेंट्स की प्रायोगिक परीक्षा के दौरान अतिथि शिक्षकों के नाम पर निजी बीएड कॉलेज स्टूडेंट्स से अवैध पैसे की वसूली करते हैं, ऐसे भी आरोप लग रहे हैं. एमआरडी बीएड कॉलेज के छात्र दिवाकर ने कहा कि प्रायोगिक परीक्षा के दौरान कॉलेज की ओर से स्टूडेंट्स को बताया जाता है कि परीक्षा लेने के लिए बाहर से अतिथि शिक्षक आते हैं. उनके आने और परीक्षा लेने का सारा खर्च कॉलेज को देना होता है, इसलिए कॉलेज स्टूडेंट्स से पैसे की मांग करता है.

इसे भी पढ़ें- झारखंड के तीन स्कूलों को केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने दिया स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार

silk_park

शारीरिक शिक्षा विषय में अन्य विषयों के शिक्षक ले रहे परीक्षा

आरयू में बीएड परीक्षा के दौरान सबसे कमाल की बात यह देखने को मिली है कि शारीरिक शिक्षा विषय की प्रायोगिक परीक्षा दूसरे विषय के शिक्षकों के माध्यम से ली जा रही थी. मामले को गंभीरता से लेते हुए आरयू के कुलपित ने इस दिशा में कार्रवाई की. उन्होंने इस परीक्षा को रद्द करते हुए नयी व्यवस्था से परीक्षा लेने का नोटिस जारी कर दिया है.

बीएड कोर्स की प्रायोगिक परीक्षा के दौरान बहुत सारी अनियमितता की सूचना स्टूडेंट्स के माध्यम से प्राप्त हुई है. शारीरिक शिक्षा विषय पर विश्वविद्यालय की ओर से पहल की गयी है. जहां तक निजी विश्वविद्यालयों द्वारा अवैध वसूली किये जाने का मामला है, जल्द ही इस दिशा में कार्रवाई की जायेगी.

-प्रो रमेश कुमार पांडेय, कुलपति, रांची विश्वविद्यालय

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: