न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्य अफसरों के IAS संवर्ग में प्रमोशन में तीन साल की देर, कार्यकाल न्यूनतम 07 से 30 महीने का ही

2017 के रिक्त पदों के विरू्द्ध अब तक नहीं मिली है प्रोन्नति, अब अगले साल का इंतजार, 2019 में मिलेगी 2015-16 के रिक्त पदों के विरूद्ध 28 अफसरों को प्रोन्नति

2,038

Ranchi: राज्य प्रशासनिक सेवा के अफसरों को आइएएस संवर्ग में प्रोन्नति पाने में तीन साल की देरी हो गई है. इन अफसरों को 2017 में ही आइएएस संवर्ग में प्रोन्नति मिल जानी थी. अब इन्हें 2020 में ही प्रोन्नति मिल पायेगी. इनके नामों की अनुशंसा पर यूपीएससी में अंतिम मुहर नहीं लगी है. आइएएस संवर्ग में राज्य प्रशासनिक सेवा के नौ अफसरों को प्रोन्नति दी जानी है. इसके लिए 27 नामों की अनुशंसा की गई है. दिलचस्प यह है कि प्रोन्नति में देरी होने के कारण प्रमोटी आइएएस का कार्यकाल न्यूनतम सात माह से 30 माह तक का ही होता है.

2015-16 की रिक्ती के विरूद्ध 2019 में प्रोन्नति

राज्य सेवा के 28 अफसरों को 2015-16 की रिक्ती के विरू्द्ध 2019 में आइएएस संवर्ग में प्रोन्नति मिली. जबकि उन्हें 2016 में ही प्रोन्नति मिल जानी चाहिये थी. इस हिसाब से अफसर प्रोन्नति पाने में लगभग तीन साल पीछे रह गये. इस कारण वे सचिव रैंक तक भी पहुंच पाते हैं. नियम कहता है कि आईएएस संवर्ग में 16 साल की सेवा के बाद सचिव रैंक में प्रोन्नति मिलती है. इसमें से अधिकांश अफसर की गिनती 2006 बैच से होगी. अगर इसमें 16 साल जोड़ दिया जाये तो 2022 होता है. लेकिन 2022 से पहले तीन-चार को छोड़कर बाकी रिटायर हो जायेंगे.

2019 में प्रमोशन पाये अफसरों का कितने महीने का है कार्यकाल

नाम                  कार्यकाल (महीनों में)            कब होंगे रिटायर

राजकुमार चौधरी              08                        28-02-2019
भवानी प्रसाद दास             07                        31-01-2019
रवींद्र कुमार                     20                        29-02-2020
चितरंजन कुमार                30                        31-12-2021
अनिल कुमार सिंह             23                       30-09-2020
सुचित्रा सिन्हा                    15                       31-09-2019
अशोक सिंह                     19                       31-01-2020
राजकुमार                        18                       30-04-2021
बद्रीनाथ चौबे                    15                       31-01-2020
दानियल कंडुलना              20                        29-02-2020

इसे भी पढ़ेंः मोदी सरकार ने संसद में बोला झूठः मई 2017 में ही चुनाव आयोग ने इलेक्टोरल बॉन्ड पर जाहिर की थी चिंता 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: