JharkhandLead NewsNationalRanchiSports

खेल, खिलाड़ियों के लिए बनाया जा रहा आदर्श माहौल, नौकरी के अलावे इलाज का जिम्मा लेगी सरकार: हेमंत

निक्की, सलीमा को पक्का घर मिलेगा

Ranchi: प्रोजेक्ट भवन में बुधवार को सीएम हेमंत सोरेन ने ओलंपियन निक्की प्रधान और सलीमा टेटे को सम्मानित किया. दोनों खिलाड़ी टोक्यो ओलंपिक खेलने के बाद रांची लौटे थे. सीएम ने उन्हें 50-50 लाख के अलावा एक-एक स्कूटी, एक-एक लैपटॉप और स्मार्ट फोन भी तोहफे में दिया. साथ ही घोषणा करते हुए कहा कि दोनों खिलाड़ियों की इच्छानुसार गांव या शहर में 3000 स्क्वायर फीट जमीन पर पक्का मकान बनाकर सरकार देगी.  साथ ही कहा कि राज्य में खेल, खिलाड़ियों के लिये और बेहतर माहौल बनाया जायेगा.

कोरोना संकट के बावजूद सरकार लगातार कई स्तर पर सकारात्मक कदम उठा रही है. राज्य में जिला खेल पदाधिकारी, सीधी नियुक्ति के तहत 40 खिलाड़ियों को नौकरी दी गयी है. अब आने वाले समय में औऱ भी आवासीय खेल सेंटर खोले जायेंगे. हॉकी के 8, फुटबॉल के 12, वॉलीबॉल और बैडमिंटन के 1-1 तथा अन्य खेलों के लिये भी ऐसे सेंटर खुलेंगे. इसके अलावे डे बोर्डिंग सेंटरों को भी प्रमोट किया जायेगा. खेल में चोट लगने पर सरकार खिलाड़ियों के इलाज का खर्च उठायेगी. नयी खेल नीति में खेल विकास को ही केंद्र में रखा गया है. मौके पर खेल मंत्री हफीजुल हसन, समाज कल्याण मंत्री जोबा मांझी, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, खेल सचिव अमिताभ कौशल, खेल निदेशक जीशान कमर सहित सलीमा और निक्की के परिजन तथा अन्य भी उपस्थित थे.

लंबे समय तक खेल से रखा जायेगा प्लेयर्स का जुड़ाव

सीएम ने कहा कि सीमित संसाधनों के बावजूद हमारे राज्य के खिलाड़ी लंबी दूरी तय करते आये हैं. गांवों में जहां बिजली, सड़क नहीं पहुंची है, वहां वे अपनी लगन, मेहनत के बूते ओलंपिक तक खेल रहे हैं. यह अपने आप में बेहद खास है. इस राज्य की खास पहचान है. खनिज संपदा, प्राकृतिक सौंदर्य के अलावे खेल जगत में इसने अपनी विशिष्ट पहचान बनायी है. सरकार का प्रयास है कि आने वाले समय में खिलाड़ियों को लंबे समय तक खेल से जोड़े रखा जाये. समय आने पर उन्हें कोचिंग की जिम्मेदारी मिले.

Sanjeevani

एयरपोर्ट से प्रोजेक्ट तक जोरदार स्वागत

सम्मानित किये जाने से पूर्व सलीमा और निक्की को एयरपोर्ट से प्रोजेक्ट भवन तक अलग अलग खुली जीप से प्रोजेक्ट भवन लाया गया. दोनों को विशेष सम्मान देने को एयरपोर्ट पर खुद मंत्री हफीजुल हसन, खेल निदेशक जीशान कमर सहित खेल विभाग औऱ खेल संघों के पदाधिकारी के भी मौजूद थे. फूल माला पहनाये जाने के अलावा ढ़ोल नगाड़ों के बीच दोनों को प्रोजेक्ट ले जाया गया. रास्ते भर में खेल प्रेमियों, स्थानीय लोगों ने दोनों खिलाडियों के लिये स्नेह जताया.

ऐतिहासिक पलः सोमा प्रधान

निक्की प्रधान के पिता सोमा प्रधान ने मौके पर कहा कि सलीमा, निक्की जैसे खिलाड़ियों के इस तरह के सम्मान से समाज में अच्छा संदेश जायेगा. यह एक ऐतिहासिक पल है. उन्हें खुशी है कि राज्य में खेल, खिलाड़ियों को लेकर सरकार ने इतनी अच्छी पहल की है. दूसरे घरों से भी बेटियां खेलने को सामने आयेंगी और अपनी पहचान बनायेंगी.

Related Articles

Back to top button