न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

साईं जन्मभूमि पर CM उद्धव के बयान के बाद बढ़ा बवाल, आज शिरडी बंद

623

Shirdi (Maharashtra): महाराष्ट्र के शिरडी में स्थानीय लोगों ने साईं बाबा के जन्म स्थान को लेकर उपजे विवाद के बाद रविवार को बंद का आह्वान किया है. साईं जन्मभूमि पाथरी शहर के लिए विकास निधि का ऐलान किया गया था जिसके बाद से यह विवाद उठ गया है जो कि अब शांत होने का नाम नहीं ले रहा है. इसी क्रम में शिरडी बंद का ऐलान किया गया है. 

हालांकि, साईं बाबा मंदिर के न्यासियों ने शनिवार को कहा कि बंद के बावजूद मंदिर खुला रहेगा. गौरतलब है कि शिरडी स्थित साईं मंदिर में देशभर के लाखों श्रद्धालु आते हैं. 

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ें- IAS की VIP Wives मनायेंगी पतरातू में पिकनिक, इसलिए आमजनों के लिए बंद रहेगा रिजॉर्ट

क्यों हुआ विवाद

उल्लेखनीय है कि यह विवाद उस समय पैदा हुआ जब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने परभणी जिले के पाथरी में साईं बाबा जन्मस्थान पर सुविधाओं का विकास करने के लिए 100 करोड़ रुपये की राशि आवंटित करने की घोषणा की थी. इसे लेकर साईं भक्त विरोध कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि अगर पाथरी को लेकर सरकार ने अपना फैसला वापस नहीं लिया तो वो कोर्ट जाएंगे.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

कुछ श्रद्धालु पाथरी को साईं बाबा का जन्मस्थान मानते हैं जबकि शिरडी के लोगों का दावा है कि उनका जन्मस्थान अज्ञात है. वहीं मुख्यमंत्री के बयान से शिरडी के लोग नाराज हैं.

सीएम ठाकरे के इस निर्णय के खिलाफ रविवार को शिरडी बंद का ऐलान किया गया है. विरोध कर रहे लोगों का कहना है कि साईं बाबा ने अपने जन्म और धर्म का कभी की कोई जिक्र नहीं किया है और न ही साईं चरित्र के बारे में कुछ लिखा हुआ है. 

इसे भी पढ़ें- #Palamu: माओवादी बिहार-झारखंड स्पेशल एरिया कमिटी के सचिव के भाई सहित तीन नक्सली गिरफ्तार

ठाकरे से बयान वापस लेने की मांग

शिरडी स्थित श्री साईबाबा संस्थान न्यास के मुख्य कार्यकारी अधिकारी दीपक मुगलीकर ने बताया कि बंद के बावजूद मंदिर खुला रहेगा. स्थानीय भाजपा विधायक राधाकृष्ण विखे पाटिल ने कहा कि उन्होंने स्थानीय लोगों द्वारा बुलाए गए बंद का समर्थन किया है.

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को साईं बाबा का जन्मस्थान पाथरी होने संबंधी बयान को वापस लेना चाहिए. पूर्व राज्यमंत्री ने कहा कि देश के कई साईं मंदिरों में एक पाथरी में भी है. सभी साईं भक्त इससे आहत हुए हैं, इसलिए इस विवाद को खत्म होना चाहिए.

कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने शुक्रवार को कहा था कि श्रद्धालुओं के लिए सुविधाओं का पाथरी में विकास का विरोध जन्मस्थान विवाद की वजह से नहीं किया जाना चाहिए. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like