न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#JharkhandElection बंधु तिर्की ने झाविमो से और राजा पीटर ने निर्दलीय किया नामांकन,  दोनों जेल से लड़ेंगे चुनाव

2,083

Ranchi:   पूर्व मंत्री बंधु तिर्की ने झाविमो से नामांकन दाखिल किया. नामांकन दाखिल करने के दौरान झाविमो सुप्रिमो बाबूलाल मरांडी भी मौजूद रहे. इससे पहले बंधु तिर्की दो बार मांडर विधानसभा से विधायक रह चुके हैं.

2014 के विधानसभा चुनाव में बंधु तिर्की को भाजपा की गगोत्री कुजूर ने हराया था. बंधु तिर्की को 46595 वोट मिले थे और वह दूसरे स्थान पर रहे. 2019 के विधानसभा चुनाव में गंगोत्री कुजूर का टिकट काट कर भाजपा ने देव कुमार धान को उम्मीदवार बनाया है.

इसे भी पढ़ेंः #JharkhandElection: नामांकन पर्चा खरीदने के बाद सरयू राय ने रघुवर के विधानसभा क्षेत्र में चलाया जनसंपर्क अभियान

34वें राष्ट्रीय खेल के एक मामले में अरोपी हैं

बंधु तिर्की को 34वें राष्ट्रीय खेल के एक मामले में अरोपी बनाया गया है. बाद में पत्थलगड़ी के सर्मथन में बयान देने पर भी उन्हे अरोपी बनाया गया था. दोनो मामले में न्यायलय ने जमानत पर फैसला सुरक्षित रखा था. जेल में बंद पूर्व मंत्री बंधु तिर्की को विधानसभा चुनाव में नामांकन दाखिल करने की अनुमति अदालत ने दी थी.

बंधु तिर्की आदिवासीयों मूलवासीयों के अधिकार के सवाल पर अक्सर अपनी अवाज बुलंद करते देखे जाते है. सरकार की ओर से सीएनटी- एसपीटी के संशोधन के प्रयास के खिलाफ भी हुए आंदोलनों में महत्वपूर्ण भूमिका निर्वाह करते नजर आये. स्थानीयता के सवाल, रोजगार, आदिवासी आंदोलन, जेपीएससी में भ्रष्टचार के मामले, किसानों के सवाल पर भी अक्सर सक्रिय दिखते हैं.

इसे भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में भाजपा को दलबदलू विधायकों के पलटने का डर: मलिक

चार सिंतबर से जेल में बंद हैं तिर्की

चार सितंबर को एसीबी ने बंधु तिर्की को गिरफ्तार किया था. तब से वे जेल में हैं. बंधु तिर्की के अधिवक्ता की ओर से भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की अदालत में नामांकन के लिए अनुमति याचिका दाखिल की थी. इस पर सुनवाई बाद अदालत ने पर्चा दाखिल करने की अनुमति प्रदान की.

Sport House

वहीं उनपर इसी साल पत्थलगड़ी के समर्थन में दिये गये बयान के मामले में बंधु तिर्की की जमानत पर फैसले को हाइकोर्ट ने सुरक्षित रख लिया है. वहीं राष्ट्रीय खेल घोटाला मामले में भी पूर्व मंत्री बंधु तिर्की की जमानत पर बुधवार को जस्टिस आर मुखोपाध्याय की अदालत में सुनवाई हुई थी.

सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद जस्टिस आर मुखोपाध्याय की अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया था. उपरोक्त दोनो मामले में अदालत ने जमानत पर फैसला सुरक्षित रख है.

राजा पीटर ने तमाड़ से नामांकन दखिल किया

रमेश सिंह मुंडा हत्याकांड मामले में जेल में बंद पूर्व मंत्री गोपाल कृष्ण पातर उर्फ राजा पीटर तमाड़ विधानसभा क्षेत्र के लिए 16 नवंबर को नामांकन दखिल किया. राजा पीटर के अधिवक्ता ने इसकी अनुमति एनआइए कोर्ट से बुधवार को ली है.

इससे पहले अदालत ने राजा पीटर को नामांकन के लिए 12 नवंबर की तिथि निर्धारित की थी. इस दिन अवकाश होने के कारण उस दिन राजा पीटर नामांकन नहीं कर सके. राज पीटर शिबु सोरेन को मुख्यमंत्री रहते हुए तमाड़ उपचुनाव में हराकर चर्च में आये थे. राजा पीटर ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नांमकान पत्र भरा.

इसे भी पढ़ेंः   #T20 आइपीए टीमों ने कुल 127 खिलाड़ियों की सदस्यता को बरकरार रखा, अगले माह होगी नीलामी

Mayfair 2-1-2020
SP Jamshedpur 24/01/2020-30/01/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like