NEWSWING
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची में फादर स्टेन स्वामी के घर पर पुणे की पुलिस ने मारा छापा, लैपटॉप-मोबाइल जब्त

मामला महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव में हुई हिंसा का

1,205

Ranchi : मंगलवार की सुबह रांची के नामकुम में बगीचा टोली स्थित फादर स्टेन स्वामी के आवास पर महाराष्ट्र के पुणे से आयी पुलिस की टीम ने छापा मारा. पुलिस फादर स्टेन स्वामी के मोबाइल और लैपटॉप को जांच के लिए अपने साथ ले गयी. महाराष्ट्र के कोरेगांव के आंदोलन में कई गाड़ी और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले में स्टेन स्वामी पर मुकदमा दर्ज है, उसी मामले को लेकर पुणे पुलिस की टीम ने रांची पुलिस के सहयोग से स्टेन स्वामी के घर पर छापामारी की.

इसे भी पढ़ें- धनबाद जेल बना माफियाओं का अड्डा, अंदर से ही चलाते हैं अपना साम्राज्य

रांची में फादर स्टेन स्वामी के घर पर पुणे की पुलिस ने मारा छापा, लैपटॉप-मोबाइल जब्त
हरी टी-शर्ट में फादर स्टेन स्वामी.

दिल्ली, महाराष्ट्र, गोवा और तेलंगाना में भी हुई छापामारी

यह छापामारी झारखंड की राजधानी रांची समेत महाराष्ट्र, गोवा, तेलंगाना और दिल्ली में एक साथ की गयी. ये सभी छापामारी पुणे पुलिस और स्थानीय पुलिस ने एक साथ की. जांच से जुड़े एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि दिल्ली में मानवाधिकार कार्यकर्ता और पत्रकार गौतम नवलखा को पुलिस अपने साथ ले गयी. उनके लैपटॉप और कई कागजात को भी पुलिस ने जब्त कर लिया. दिल्ली के ही बदरपुर में सिविल राइट्स वकील सुधा भारद्वाज को भी पुलिस ने हिरासत में लिया और उनके लैपटॉप, पेन ड्राइव, मोबाइल फोन जब्त कर लिये. इसके अलावा पुलिस ने सुधा भारद्वाज से उनके ई-मेल का एक्सेस भी मांगा है. इतना ही नहीं, पुलिस ने सुधा की बेटी अनु भारद्वाज के भी ई-मेल और सोशल मीडिया अकाउंट की जानकारी मांगी है. उधर, हैदराबाद में कवि और वामपंथी विचारक वरवर राव, मुंबई में वरनेन गोंजाल्विस और सामाजिक कार्यकर्ता अरुण फरेरिया के घर की तलाशी ली गयी. इसी कड़ी में रांची के नामकुम में बगीचा टोली स्थित फादर स्टेन स्वामी के घर पर भी छापामारी की गयी. पुलिस के मुताबिक, बीते जून में गिरफ्तार किये गये पांच एक्टिविस्ट्स से पूछताछ के आधार पर ये नाम सामने आये हैं और इसी के आधार पर सभी के घरों की तलाशी ली गयी.

इसे भी पढ़ें- स्टेन स्वामी ने सरकार और जनता के नाम लिखी खुली चिट्ठी- क्या मैं देशद्रोही हूं ?

रांची में फादर स्टेन स्वामी के घर पर पुणे की पुलिस ने मारा छापा, लैपटॉप-मोबाइल जब्त

क्या है मामला

यह पूरा मामला पुणे के भीमा कोरेगांव में इसी साल की शुरुआत में हुई हिंसा की घटना से जुड़ा है. पुणे के विश्रामबाग पुलिस स्टेशन में यलगार परिषद के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधियों को रोकने के लिए बनाये गये कानून के तहत एफआईआर दर्ज की गयी थी. यह यलगार परिषद 31 दिसंबर 2017 को आयोजित की गयी थी. दरअसल, पुणे में 1 जनवरी 2018 को कथित रूप से स्टेन स्वामी समेत अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा दिये गये भाषणों की वजह से अगले दिन बड़े स्तर पर हिंसा हुई थी. महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव इलाके में इसी साल एक जनवरी को भीमा नदी के किनारे पर स्थित स्मारक के पास पत्थरबाजी हुई थी और आगजनी की गयी थी. दो गुटों के बीच झड़प हुई थी और तभी पत्थरबाजी शुरू हो गयी थी. पुलिस ने भीड़ और हालात पर काबू करने के लिए आंसू गैस और लाठी चार्ज का इस्तेमाल किया. पुलिस की जांच में पता चला कि हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हुई है, 80 गाड़ियों को नुकसान पहुंचा है. हिंसा में शामिल लोगों की पहचान के लिए सीसीटीवी फुटेज की पड़ताल की गयी थी. पूछताछ के लिए कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया गया था. इस हिंसा के बाद तीन जनवरी को महाराष्ट्र बंद का आह्वान किया गया था. हिंसा के दौरान एक युवक राहुल फंतागले की मौत हो गयी थी.

पीएम मोदी की हत्या की साजिश से संबंधित चिट्ठी बरामद होने का किया गया था दावा

madhuranjan_add

भीमा कोरेगांव हिंसा के बाद पुलिस ने जून में कुछ एक्टिविस्ट्स को गिरफ्तार किया था. तब पुलिस ने दावा किया था कि गिरफ्तार किये गये कई लोगों के पास से माओवादियों की चिट्ठी बरामद की गयी थी. उस चिट्ठी में नक्सलियों द्वारा पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचे जाने की बात लिखी हुई थी. पुलिस ने दावा किया था कि उस चिट्ठी में लिखा था कि नक्सली पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तरह ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या करना चाहते हैं. पुलिस के मुताबिक, यह चिट्ठी इसी साल 18 अप्रैल को रोणा जैकब द्वारा कॉमरेड प्रकाश को लिखी गयी थी. पुलिस ने दावा किया था कि इस चिट्ठी में कहा गया था, “हिंदू फासिस्म को हराना अब काफी जरूरी हो गया है. मोदी के नेतृत्व में हिंदू फासिस्ट तेजी से आगे बढ़ रहे हैं, ऐसे में इन्हें रोकना जरूरी है. मोदी की अगुवाई में भाजपा बंगाल और बिहार को छोड़कर 15 से ज्यादा राज्यों में सत्ता में आ चुकी है. अगर इसी तरह भाजपा की यह रफ्तार बढ़ती रही, तो माओवादी पार्टी को खतरा हो सकता है. इसलिए इस पर विचार किया जा रहा है कि राजीव गांधी हत्याकांड की तरह एक और घटना की जाये. अगर ऐसा होता है, तो यह एक तरह से सुसाइड अटैक लगेगा. हमें लगता है कि हमारे पास यह चांस है. मोदी के रोड शो को लक्ष्य करना एक अच्छी प्लानिंग हो सकती है.’’

इसे भी पढ़ें- मानवाधिकार हनन के लिए झारखंड प्रयोगशाला बन गया है – स्टेन स्वामी

फादर स्टेन स्वामी के आवस पर छापामारी को माले ने कहा लोकतंत्र पर हमला

इधर, स्टेन स्वामी के घर पर छापामारी की घटना पर भाकपा माले अपनी प्रतिक्रिया दी है. भाकपा माले झारखंड राज्य सचिव जनार्दन प्रसाद ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर फादर स्टेन स्वामी के घर पर की गयी पुलिसिया छापामारी को लोकतंत्र पर एक खतरनाक हमला बताया है. उन्होंने इसे लोकतांत्रिक संघर्षों को कुचलने की गहरी साजिश की संज्ञा दी है. उन्होंने कहा कि मंगलवार की सुबह 5.30 बजे से सुबह 8.30 बजे तक तीन घंटा तक महाराष्ट्र की पुलिस रांची पुलिस के साथ मिलकर फादर स्टेन के यहां छापेमारी कर मोबाइल, लैपटॉप, सीडी आदि जब्त कर लिये. भाजपा सरकार इसे नक्सली लिंक के साथ ही खूंटी के पत्थलगड़ी के साथ जोड़कर दहशत की राजनीति कर रही है. फादर स्वामी के नेतृत्व में हाल ही में झारखंड में लोकतंत्र पर बढ़ते हमले के खिलाफ राजभवन में प्रतिवाद हुआ था. प्रतिवाद में वामपंथी दलों के साथ ही विपक्ष और संघर्षरत शक्तियों का समागम हुआ था.

इसे भी पढ़ें- खूंटी पुलिस ने फादर स्टेन स्वामी, थियोडोर किड़ो सहित 20 पर किया देशद्रोह का मुकदमा

आंदोलन को दबाने की नाकाम कोशिश कर रही भाजपा

जनार्दन प्रसाद ने कहा कि झारखंड में लोकतंत्र पर बढ़ते हमले के खिलाफ संघर्ष की तमाम शक्तियां एकजुट होकर संघर्ष को आगे बढ़ा रही हैं. भाजपा सरकार अपनी नाकामी छिपाने के लिए उनके खिलाफ बढ़ते आंदोलन को दबाने की नाकाम कोशिश कर रही है. भाकपा माले फादर स्टेन के यहां की गयी छापामारी की सख्त निंदा करते हुए सरकार से मांग करती है कि वह तत्काल दमनात्मक कार्रवाई पर रोक लगाये, नहीं तो इस दमन के खिलाफ सड़कों पर प्रतिवाद करने में झारखंड की संघर्षशील जनता बड़े पैमाने पर उतरेगी. फादर स्टेन जैसे निर्दोष सामाजिक कार्यकर्ता के खिलाफ इस तरह के फासस्टि हमले को झारखंड की जनता कभी बर्दाश्त नहीं करेगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Averon

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: