JharkhandRanchiTODAY'S NW TOP NEWS

खूंटी पुलिस ने फादर स्टेन स्वामी, थियोडोर किड़ो सहित 20 पर किया देशद्रोह का मुकदमा

Ranchi : खूंटी पुलिस ने फादर स्टेन स्वामी, कांग्रेस के पूर्व विधायक थियोडोर किड़ो सहित 20 अन्य लोगों पर देशद्रोह का केस दर्ज किया है. मामला खूंटी इलाके में पत्थलगड़ी किये जाने से संबंधित है. फादर स्टेन स्वामी व अन्य पर पुलिस ने आरोप लगाया है कि वे लोगों को धोखे में रख कर देश की एकता व अखंडता को तोड़ने में लगे हुए हैं. साथ ही इन लोगों पर सोशल मीडिया का सहारा लेकर लोगों को जबरन देशविरोधी गतिविधियों में शामिल करने सहित सांप्रदायिक और जातीय माहौल खराब करने, कानून व्यवस्था में व्यवधान पहुंचाने का आरोप पुलिस ने लगाया है. इन सभी पर आईपीसी की धारा 121 (देश के विरुदध युदध करना या उसके लिए उकसाना) आईपीसी की धारा 121 ए (देश के विरुदध युदध की साजिश करना) आईपीसी की धारा 124 ए (देश के खिलाफ बोल कर या लिख कर विद्रोह करना) लगाई गयी है.

इसे भी पढ़ें पांचवीं अनुसूची के संरक्षक हैं राज्यपाल, सीएनटी-एसपीटी एक्ट को कड़ाई से लागू करायें : जनांदोलन संयुक्त मोर्चा

ग्रामीणों पर देश विरोधी कार्य के लिए दबाव डाला गया

पुलिस ने अपनी एफआईआर में 26 जून के घाघरा कांड का भी जिक्र किया है. कहा है कि उस दिन पत्थलगड़ी समर्थकों ने सांसद कड़िया मुंडा के अंगरक्षकों का अगवा कर लिया था. इसकी सूचना मिलने पर जब पुलिस वहां पहुंची, तो ग्रामीणों ने उन्हें घेर लिया. सभी गुलैल, तीर कमान से लैस थे. पुलिस ने इसे नाजायज मजमा करार दिया. एफआईआर के अनुसार पुलिस जब अंगरक्षकों को छुड़ाने के लिए उनसे वार्ता करने के लिए जा रही थी, तो पुलिस पर हमला कर दिया गया. बाद में पुलिस ने जांच की तो पता चला कि कुछ लोग ग्रामीणों को भड़का रहे हैं. ग्रामीणों पर देश विरोधी कार्य के लिए दबाव डाला जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- कहीं पत्थलगड़ी समर्थकों तक डायवर्ट तो नहीं हो गया विदेशी फंड, ईसाई धर्मगुरु बतायें : भाजपा

कई लोग एनजीओ से जुड़े हुए हैं

स्वामी व किड़ो के अलावा जिन लोगों पर केस दर्ज किया गया है, उनमें वाल़्टर कंडुलना, थामस रूंडा, बोलेस बबीता कच़्छप, बिरसा नाग, सुकुमार सोरेन, घनश्याम बिरुली, धर्मकिशोर कुल्लू, मुक़्ति तिर्की, अजल कंडुलना, विकास कोड़ा, विनोद कुमार, आलोका कुजूर, विनोद केरकेट़टा, सुमित केरकेट़टा, ए बिरुआ, राकेश रोशन किड़ो, सामु टुडू आदि शामिल हैं. बता दें कि इन लोगों में से कई लोग एनजीओ से जुड़े हुए हैं.

इसे भी पढ़ें- अशोक नगर : नोटिस-नोटिस का गेम खेल रहा है रांची नगर निगम

फेस बुक और सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को किया गुमराह

पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी के अनुसार पुलिस को जानकारी मिली कि कुछ लोग फेस बुक और सोशल मीडिया के माध्यम से आदिवासी महासभा और एसी भारत परिवार के नाम पर लोगों को गुमराह कर रहे हैं. वे लोगों को संविधान की गलत जानकारी दे रहे हैं. पुलिस को यह भी पता चला कि इलाके में सांप्रदायिक और जातीय माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया जा रहा है. पुलिस ने इन लोगों के फेसबुक पोस्ट के स्क्रीन शॉट भी निकाले. जांच करने पर आरोप सही पाये गये. इसके बाद प्राथमिकी दर्ज की गयी.

  न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं 

Related Articles

Back to top button