JharkhandLead NewsPalamu

11 हजार रुपये रिश्वत लेने का ‘दोषी’ पाया गया पंचायत सचिव, डीसी ने किया सस्पेंड

  • पीएम आवास योजना की राशि की दूसरी किस्त जारी करने के एवज में लाभुक से ली थी रिश्वत

Palamu : प्रधानमंत्री आवास योजना में रिश्वत की शिकायत पर त्वरित संज्ञान लेते हुए पलामू डीसी शशि रंजन ने एक पंचायत सचिव के खिलाफ शनिवार को बड़ी कार्रवाई की. डीसी ने मोहम्मदगंज प्रखंड की कादलकुर्मी पंचायत के पंचायत सचिव मिथिलेश कुमार सिंह को सस्पेंड कर दिया है.

11 हजार रुपये बतौर रिश्वत लेने की हुई पुष्टि

पंचायत सचिव मिथिलेश कुमार सिंह पर प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के लाभुक सुनील मेहता से योजना राशि की द्वितीय किस्त के भुगतान के एवज में 11 हजार रुपये रिश्वत के रूप में लेने का आरोप है. मामला प्रकाश में आने के बाद इसकी जांच बीडीओ से करायी गयी, जिसमें रिश्वत लिये जाने के बात की पुष्टि हुई.

बीडीओ ने जांच रिपोर्ट में बताया कि प्रथम दृष्टया जांच में पंचायत सचिव द्वारा रिश्वत लेने का आरोप सही पाया गया है, इसलिए उनके विरुद्ध विभागीय कार्यवाही और अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाये.

इसके आलोक में डीसी द्वारा पंचायत सचिव मिथिलेश कुमार सिंह को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड करते हुए इनका मुख्यालय नौडीहा बाजार प्रखंड किया गया है. साथ ही दोषी पंचायत सचिव के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही संचालित करने हेतु प्रपत्र- ‘क’ में आरोपपत्र गठित करने का आदेश दिया है.

डीसी ने कहा है कि विकास योजनाओं के लाभुकों को बेवजह प्रताड़ित कर भयादोहन करनेवालों एवं बिचौलियों पर प्रशासन कड़ी कार्रवाई करेगा और ऐसे मामलों में किसी भी स्तर पर शिथिलता को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें: निगम क्षेत्र में ठेले-खोमचे-बाजार लगाने वाले सभी दुकानदार पहनें मास्क, इसके लिए चलेगा विशेष अभियान

रिश्वत के लेन-देन का ऑडियो हुआ था वायरल

गौरतलब है कि पंचायत सचिव का प्रधानमंत्री आवास योजना में 11 हजार रुपये रिश्वत के लेन-देने से संबंधित ऑडियो वारयल हुआ था. मामले में गंभीरता दिखाते हुए हुसैनाबाद के विधायक कमलेश कुमार सिंह ने मोहम्मदगंज प्रखंड की कादलकुर्मी एवं सोनवर्षा पंचायत के पंचायत सेवक मिथिलेश कुमार सिंह को सस्पेंड करने का आग्रह डीसी से किया था. हुसैनाबाद विधायक ने कहा कि यह कार्रवाई उन अधिकारियों के लिए एक चेतावनी है, जो गरीब जनता का शोषण करते हैं. ऐसा आचरण बर्दाश्त नहीं किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें: सांसद महेश पोद्दार ने की ट्रेड लाइसेंस को सरल बनाने की मांग

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: