JharkhandMain SliderPalamu

पलामू : नहीं रहे पूर्व राज्यपाल भीष्म नारायण सिंह, शोक की लहर

Palamu  : पलामू के धरती पुत्र और पूर्व राज्यपाल भीष्म नारायण सिंह का दिल्ली के फोर्टिस अस्पताल में निधन हो गया, वे 87 वर्ष के थे. पिछले कई दिनों से बीमार रहने के कारण बुधवार की शाम उन्होंने अंतिम सांस ली.

उनके निधन के बाद परिजन दिल्ली रवाना हो गए हैं. दिल्ली में ही पूर्व राज्यपाल का अंतिम संस्कार होगा. भीष्म नारायण सिंह छह महीने पहले पलामू आए थे और पैतृक आवास छतरपुर के उदयगढ़ पर गए थे. इस दौरान अपने परिजनों से मुलाकात की थी और खेतखलिहान को भी देखा था. यह उनके लिए अंतिम पलामू दौरा साबित हुआ.

इसे भी देखें- कटकमसांडी साइडिंग पर कोयला में डस्ट मिलाकर भेज रहा है लोडर मुन्ना सिंह

advt

तमिलनाडू, असम सहित सात राज्यों के राज्यपाल रहे

भीष्म नारायण सिंह 1985 से 1996 तक असम, मेघालय सहित सात राज्यों के राज्यपाल रहे थे. 2005 में रूस ने भीष्म नारायण सिंह को आर्डर ऑफ फ्रेंडशिप के सम्मान से भी नवाजा था. 1985 में मद्रास के गवर्नर रहते हुए पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को मद्रास यूनिवर्सिटी का वाइस चांसलर बनाया था.

इसे भी पढ़ेंःकहीं जुमला बनकर न रह जाये सीएम रघुवर दास की वर्ल्ड क्लास घोषणाएं

पहली बार 1967 में हुसैनाबाद के विधायक बने

भीष्म नारायण सिंह 1967 में पहली बार हुसैनाबाद के विधायक चुने गए और बिहार के शिक्षा मंत्री बने. 1972 में दुबारा विधायक बने और बिहार में खान मंत्री बने. 1976 में पहली बार राज्यसभा के लिए चुने गए और 1980 में इंदिरा गांधी के मंत्रिमंडल में संसदीय कार्य मंत्री रहे फिर 1983 खाद आपूर्ति मंत्री बने.

इसे भी पढ़ेंःगुमलाः इंटर में एडमिशन नहीं होने से हताश नरगिस ने की खुदकुशी, आर्थिक तंगी बना कारण

adv

50 के दशक में कांग्रेस पार्टी से शुरू की थी राजनीति

भीष्म नारायण सिंह का जन्म 1933 में जिले के छतरपुर स्थित उदयगढ़ में किसान परिवार में हुआ था. बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय से ग्रेजुएट होने बाद सक्रिय रूप से 42 वर्ष की उम्र में उन्होंने राजनीति में भाग लिया. आल इंडिया कांग्रेस कमिटी का सदस्य बने. उनके पुत्र भरत सिंह एवं पौत्र अनंद प्रताप सिंह कांग्रेस पार्टी में सक्रिय नेता हैं. भीष्म नारायण सिंह के निधन से पलामू के कांग्रेसियों में शोक की लहर दौड़ गयी है. पूर्व मंत्री के.एन त्रिपाठी, ह्दयानंद मिश्रा, पूर्व जिला अध्यक्ष चन्द्रशेखर शुक्ला, अध्यक्ष बिट्टू पाठक सहित अन्य ने गहरा शोक व्यक्त किया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button