JharkhandPalamu

Palamu : किसानों के आंदोलन के समर्थन में प्रदर्शन, सरकार की नीतियों का किया गया विरोध

Palamu : केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार द्वारा लाये गये कथित किसान व जनविरोधी कानून के खिलाफ आंदोलनरत किसानों को पलामू में भी समर्थन मिला है.

गुरुवार को मेदिनीनगर स्थित कचहरी परिसर में अखिल भारतीय किसान सभा, भारतीय जन नाट्य संघ इप्टा, झारखंड राज दिहाड़ी मजदूर यूनियन, झारखंड जनक्रांति मंच, आइसा, भारत ज्ञान विज्ञान समिति आदि संगठनों ने संयुक्त रूप से नुक्कड़ सभा का आयोजन सरकार की नीतियों का विरोध किया.

कार्यक्रम के दौरान तमाम संगठनों के प्रतिनिधियों ने कहा कि बिना किसी से सलाह लिये मोदी सरकार ने लॉकडाउन के दौरान चोर दरवाजे से किसानों की बेहतरी के नाम पर तीन अध्यादेश पास करा कर कर कानून बनाया, जो किसान विरोधी ही नहीं जनविरोधी भी है. सच्चाई है कि यह किसानों के हक में नहीं है. यह कारपोरेट और जमाखोरों के हक में बनाया गया कानून है.

इसे भी पढ़ें : दुमका पुलिस ने नक्सली साजिश का किया भंडाफोड़, हथियार व विस्फोटक बरामद

किसानों को समर्थन

आज इसी कानून के खिलाफ के खिलाफ दिल्ली में पंजाब हरियाणा उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश के किसान हजारों की संख्या में उपस्थित हैं. लगातार कानून रद्द कराने तक अपने आंदोलन को जारी रखने का संकल्प दोहरा रहे हैं. हम उन किसानों के साथ अपना समर्थन व्यक्त करते हुए इस आंदोलन को निरंतर जारी रखने का संकल्प लेते हैं.

प्रदर्शन में अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष केडी सिंह, इप्टा के राष्ट्रीय सचिव शैलेंद्र कुमार, दिहाड़ी मजदूर यूनियन के महासचिव राजीव कुमार, झारखंड क्रांति मंच के केंद्रीय अध्यक्ष शत्रुघ्न कुमार शत्रु, ज्ञान विज्ञान समिति के राज्य सचिव शिव शंकर प्रसाद, इप्टा से प्रेम प्रकाश, राजीव रंजन, अजीत ठाकुर, संजू ठाकुर, आइसा से दिव्या भगत, मो इजहार, पैक्स अध्यक्ष शिव नारायण सिंह, सुरेश सिंह, भीम तिवारी, गिरिजा विश्वकर्मा, गौतम कुमार, नंदलाल सिंह समेत अन्य लोग मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें : RMC में मेयर, डिप्टी मेयर व चीफ इंजीनियर का है नेक्सेस, उन्हीं योजनाओं की मिलती है स्वीकृति जिस पर हो चुका होता है सौदा : जेएमएम

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: