JharkhandPalamu

पलामू: प्रधानमंत्री के दौरे का विरोध कर रहे कांग्रेस नेता केएन त्रिपाठी गिरफ्तार

Palamu: लातेहार जिले के मंडल से विस्थापितों के साथ पदयात्रा शुरू करने जा रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केएन त्रिपाठी एवं उनके समर्थकों को गिरफ्तार कर 24 घंटे से अधिक समय से बरवाडीह थाना में कैद रखा गया. कड़ाके की पड़ रही ठंड में श्री त्रिपाठी सहित अन्य कांग्रेसियों ने किसी तरह गर्म कपड़ों का प्रबंध कर थाने के कमरे में रात गुजारी. शनिवार की सुबह जब वे बरवाडीह थाना से जाना चाह रहे थे, तो उन्हें निकलने नहीं दिया गया. इससे नाराज त्रिपाठी समर्थकों के साथ थाना गेट पर धरना पर बैठ गये.

सत्ता और बंदूक के बल पर आवाज दबाना चाहती है सरकार: त्रिपाठी

थाना गेट पर धरना देते हुए श्री त्रिपाठी ने आरोप लगाया कि केन्द्र एवं राज्य की सरकार सत्ता और बंदूक के बल पर विरोध में उठने वाली हर आवाज को दबाना चाहती है. इसके लिए सरकारी तंत्र खासकर पुलिस और सीआरपीएफ का दुरुपयोग किया जा रहा है. सरकार यह बताना चाहती है कि एक बार सत्ता में आने के बाद वह किसी कीमत पर इससे दूर नहीं हो सकती. इसके लिए चाहे किसी तरह का हिंसक कदम ही क्यों न उठाने पड़े? श्री त्रिपाठी ने कहा कि वे विस्थापितों के साथ संवैधानिक तरीके से प्रधानमंत्री तक बात पहुंचाना चाहते थे.  लेकिन एक साजिश के तहत उन्हें गिरफ्तार किया गया और फिर रात भर थाना में कैद करके रखा गया. शाम में आश्वासन दिया गया था कि उन्हें सुबह में जाने दिया जायेगा, लेकिन सुबह पुलिस पदाधिकारी अपनी बात से मुकर गये. लगातार थाना की चाहरदीवारी के भीतर बंद रखा गया.

अचार संहित के डर से हुआ मंडल परियोजना का शिलान्यास

श्री त्रिपाठी ने यह भी आरोप लगाया कि अगले महीने लोकसभा चुनाव को लेकर अचार संहिता लागू कर दी जायेगी. इसलिए आनन-फानन में मंडल परियोजना का शिलान्यास किया गया. यह पूरी तरह चुनावी चाल है. चुनाव के समय शुरू होने वाली योजनाओं का कोई भविष्य नहीं होता. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का भी कुछ इसी तरह का भविष्य नजर आ रहा है. अगली बार प्रधानमंत्री बनेंगे कि नहीं, संशय की स्थिति है. विदित हो कि शुक्रवार की दोपहर बरवाडीह में पदयात्रा रोकने के बाद प्रशासन द्वारा केएन त्रिपाठी सहित दर्जनों समर्थकों को गिरफ्तार कर लिया था.

इसे भी पढ़ेंः जालसाजीः चतरा, जामताड़ा, बोकारो और गुमला में प्री मैट्रिक स्कॉलरशिप को दूसरी सरकारी योजना बता भरवा दिया फॉर्म

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close