National

समुद्री जिहाद की साजिश रच रहा पाक, भारतीय नौसेना बोली- करारा जवाब के लिए तैयार

विज्ञापन

New Delhi : जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने और राज्य के जम्मू-कश्मीर तथा अलग लद्दाख के रूप में पुनर्गठित किये जाने से बौखलाये पाकिस्तान ने आतंकियों को भारत पर हमले के लिए उकसाना शुरू कर दिया है.

खुद इमरान खान भारत में पुलवामा जैसे हमले की आशंका जता चुके हैं. अब ऐसी खुफिया सूचनाएं आ रही हैं कि पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन ‘समुद्री जिहाद’ की साजिश रच रहे हैं. इसे देखते हुए इंडियन नेवी भी पूरी तरह तैयार है. नेवी पूरी तरह हाई अलर्ट पर है और किसी की भी किसी तरह की हिमाकत का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार है.

इसे भी पढ़ें : बिहार : जीतन राम मांझी ने महागठबंधन से किया किनारा, अकेले विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान

‘तटीय सुरक्षा बढ़ायी गयी’

डेप्युटी चीफ ऑफ नवल स्टाफ मुरलीधर पवार ने शनिवार को कहा कि तटीय सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है और किसी की किसी भी तरह ही हिमाकत को नाकाम करने के लिए कड़ी निगरानी रखी जा रही है. उन्होंने कहा, ‘नेवी हाई अलर्ट पर है…हम उनमें (राज्य प्रायोजित आतंकवादियों) से प्रत्येक को रोकने और नाकाम करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं. किसी के भी द्वारा किसी भी हिमाकत का पूरी ताकत से जवाब मिलेगा.’

दिल्ली में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने आये पवार ने पत्रकारों से बातचीत में यह बात कही. सूत्रों ने शनिवार को बताया कि पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन अपने गुर्गों को ‘समुद्री जिहाद’ समेत समुद्र के रास्ते हमले की ट्रेनिंग दे रहे हैं. इससे पहले, शुक्रवार को आधिकारिक सूत्रों ने बताया था कि नेवी के सभी स्टेशनों को हाई अलर्ट पर रखा गया है ताकि सुरक्षा संबंधी किसी भी चुनौती से कारगर तरीके से निपटा जा सके.

इसे भी पढ़ें : पलामू: ननबैकिंग कंपनी में निवेशकों का 10 करोड़  बकाया, 168 एजेंट पहुंचे हाईकोर्ट

थल सेना और वायु सेना भी हाई अलर्ट पर 

इंडियन आर्मी और इंडियन एयरफोर्स भी हाई अलर्ट पर हैं. सूत्रों के मुताबिक नेवी उसी तरह के हाई अलर्ट पर है, जितना पुलवामा हमले के बाद थी. 14 फरवरी को पुलवामा हमले के बाद नेवी ने उत्तरी अरब सागर में एयरक्राफ्ट कैरियर आइएनएस विक्रमादित्य, परमाणु पनडुब्बी चक्र, 60 जहाज और करीब 80 एयरक्राफ्टों को ऑपरेशन मोड पर रखा था. अब एक बार फिर उन्हें उसी तरह ऑपरेशनल मोड में रखा गया है. पुलवामा आत्मघाती हमले के बाद इंडियन एयरफोर्स ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े आतंकी कैंप पर हमला कर उसे तबाह कर दिया था.

इसे भी पढ़ें : लातेहार एसडीओ जय प्रकाश झा ने तथ्यों को नजरअंदाज कर 16.98 एकड़ भूमि विवाद में फैसला दिया

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close