Jamshedpur

देह व्यापार के लिए ट्रेन से दिल्ली भेजी जा रही थी नाबालिग लड़कियां, आसनसोल से बरामद, दलाल गिरफ्तार

एक लड़की के पीछे 15 हजार मिलने वाले थे दलाल तौफ अली को, पहले भी देह व्यापार के धंधे में जेल जा चुका है दलाल, आरपीएफ स्कॉट टीम ने दबोचा

Jamshedpur : सियालदह-आनंद विहार पश्चिम बंगाल संपर्कक्रांति एक्सप्रेस ट्रेन से देह व्यापार के लिए नई दिल्ली भेजी जा रही नाबालिग समेत छह भोली-भाली लड़कियों को बरामद किया है. साथ ही एक दलाल को भी आरपीएफ ने जांच के बाद आसनसोल स्टेशन पर दबोच लिया है. गुप्त सूचना के आधार पर आरपीएफ की ओर से इस तरह की कार्रवाई की गयी है.

नौकरी लगाने के नाम लड़कियों को लेकर जा रहा था दलाल

नाबालिग समेत छह लड़िकियों को बरामद करने के बाद पुलिस के समक्ष कहा कि उन्हें दिल्ली में नौकरी लगाने के  नाम पर ट्रेन से दलाल लेकर जा रहा था. उन्हें तब यह नहीं पता था कि उसे देह व्यापार के धंधे में लगाया जाना है.

ट्रेन में पहले से कराया था आरक्षण

आरपीएफ का कहना है कि दलाल ने पहले से ही सभी का आरक्षण कोच नंबर डी 2  में करवा रखा था. जांच के बाद दलाल का ही मोबाइल नंबर आरक्षण फार्म पर लिखा पाया गया है. पुलिस का कहना है कि मामले को जीआरपी थाने के जिम्मे कर दिया गया है.

24 परगना गांव की रहने वाली है लड़कियां

आरपीएफ कमांडेंट चंद्रमोहन मिश्रा ने कहा कि सभी लड़कियां पश्चिम बंगाल के ही 24 परगना की रहने वाली है. ट्रेन में स्कॉट का जिम्मा मतांगिनी को दिया गया था. मतांगिनी टीम में इंस्पेक्टर आलोक कुमार गोराई, एसआइ शुभ्रा दे, महिला जवान सुजाता मारुति जाधव थीं. कोच के भीतर लड़कियों को देखने के बाद टीम को आशंका हुई. इसके बाद पूछताछ के बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो गया था. इस घटना के बाद से आरपीएफ को पहले से भी ज्यादा सतर्क कर दिया गया है.

पहले भी जेल जा चुका है दलाल तौफ अली

दलाल तौफ अली के बारे में बताया गया है कि वह इसके पहले भी जेल जा चुका है. उसने पुलिस को बताया एक एक लड़की पहुंचाने के एवज में उसे 15 हजार मिलने वाले थे. छह लड़कियों का उसे 90 हजार मिलने वाला था. नाबालिग लड़कियों को बरामद करने के बाद स्थानीय चाइल्ड लाइन के जिम्मे सौंप दिया गया है.

इसे भी पढ़ें- एनसीसी में बेहतर प्रदर्शन करने वाले छात्र सेना में बहाल होंगे : एडीजी

Related Articles

Back to top button