न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मनरेगा कर्मचारी संघ ने किया भिक्षाटन, कहा- मांगें नहीं मानी तो हड़ताल अंतिम विकल्‍प

467

Sahibganj: झारखंड राज्य मनरेगा कर्मचारी संघ के आह्वान पर साहेबगंज जिला मनरेगा कर्मचारि‍यों के द्वारा पांच सूत्री मांगों के लिए रोड शो सह भिक्षाटन कार्यकम का आयोजित किया गया. इस दौरान संघ के सदस्‍यों ने पूरे शहर में भ्रमण कर भिक्षाटन किया और आगे की रणनीति तय की. संघ द्वारा पूर्व से निर्धारित कार्यक्रम के तहत मांगे नहीं मांगे जाने पर 26 अक्‍टूबर को ग्रमीण विकास मंत्री के आवास का घेराव करने का निर्णय लिया गया. उसके बाद वे 1 नवंबर को सीएम आवास का घेराव करेंगे. इस दौरान उन्‍होंने 15 नवंबर को सभी विधानसभा क्षेत्रों में तिरंगा यात्रा निकालने का निर्णय लिया है. इसके बावजूद उनकी मांगे नहीं मानी गयी तो सभी मनरेगा कर्मचारी अनिश्चितकाली हड़ताल पर चले जायेंगे.

इसे भी पढ़ेंःफर्जी नक्सली सरेंडर मामलाः हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से 7 अगस्त तक मांगा जवाब

संघ के जिला अध्यक्ष मेनुल हक ने बताया की की मनरेगा सहित विभिन्न विभागो मे संविदा आधारित नियुक्ति मेधा आधार पर की गयीं हैं. मनरेगा में नियुक्तियों के 10 साल और उससे अधिक हो चुके हैं. इसके बावजूद हमें झारखंड सरकार द्वारा बहुत कम मानदेय दिया जा रहा हैं. जबकि‍ पड़ोसी राज्य ओडिशा ने मनरेगा में रोजगार सेवकों को जनसेवक के स्थायी पद व वेतनमान देकर समायोजन कर दिया गया है.  संघ के सचिव मनोज दूबे ने बताया की सरकारी पत्र क्रमांक सी s-2/2018/13 भोपाल 5/6/18 बिहार सरकार भी समान काम का समान वेतन को कैबिनेट में मंजूरी दी हैं व संकल्प पत्र जारी किया हैं. भारत सरकार का राज्यपत्र (गजट) रजिस्ट्री सं डीएल 33004/99 सं 2459 श्रम और रोजगार मंत्रालय अधिसूचना दिनांक 28अगस्त 2017 नई दिल्ली न्यूतम मजदूरी 24000 प्रति माह निर्धारित की हैं. ऐसे में सरकार हमारी सुने.

hosp1

इसे भी पढ़ेंः45 प्रमोटी IAS मेन स्ट्रीम से बाहर, सिर्फ दो को ही मिली है जिले की कमान, गैर सेवा से आईएएस बने दो अफसर हैं डीसी

मनरेगा कर्मचारियों की मुख्य मांगे

  • स्थायीकरण
  • समान काम, समान वेतन
  • राज्य सरकार के तमाम नियुक्ति‍ में संविदा सेवा काल के बराबर उम्र सीमा मे छूट व आरक्षण
  • 4 मनरेगा act के अनुरूप सामजिक अंकेक्षण व मनरेगा आयुक्त द्वारा सामजिक अंकेक्षण कारवाई मार्गदर्शिका का निरस्त्रीकरण किया जाये.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: