National

अवमानना केस में फैसला: सीनियर वकील प्रशांत भूषण जमा करेंगे 1 रुपया

New Delhi. सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना के मामले वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण को एक रूपए का जुर्माना लगाया है. कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए कहा कि अगर 15 सितंबर तक प्रशांत भूषण कोर्ट में जुर्माने की राशि जमा नहीं करते हैं तो उन्हें तीन महीने की जेल और 3 साल तक उनकी प्रैक्टिस पर रोक लगा दी जाएगी.

 

 

राजीव धवन ने दिए एक रुपए

कोर्ट का फैसला आने के बाद सीनियर वकील प्रशांत भूषण ने कहा- मैंने आभार के साथ फैसला मंजूर कर लिया है. अदालत के आदेश के तुरंत बाद मेरे साथी राजीव धवन ने मुझे 1 रुपया दिया. प्रशांत भूषण ने पैसे लेने का फोटो भी सोशल मीडिया में शेयर किया है.

adv

क्या कहा प्रशांत ने?

प्रशांत भूषण ने ट्वीट करते हुए कहा- मेरे वकील और वरिष्ठ सहयोगी राजीव धवन ने अवमानना के फैसले के तुरंत बाद 1 रुपए का योगदान दिया, जिसे मैंने आभार व्यक्त करते हुए स्वीकार किया है.

क्या है मामला

दरअसल, प्रशांत भूषण ने दो ट्वीट किए थे. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा था- जब इतिहासकार भारत के बीते 6 सालों को देखते हैं तो पाते हैं कि कैसे बिना इमरजेंसी के देश में लोकतंत्र खत्म किया गया. वे (इतिहासकार) सुप्रीम कोर्ट खासकर 4 पूर्व सीजेआई की भूमिका पर सवाल उठाएंगे.

इसे भी पढ़ें- पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन, 84 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

दूसरे ट्वीट पर उन्होंने कहा था- इस ट्वीट में उन्होंने चीफ जस्टिस एसए बोबडे की हार्ले डेविडसन बाइक के साथ फोटो शेयर करते हुए लिखा था- सीजेआई ने लॉकडाउन में अदालतों को बंद कर लोगों को इंसाफ देने से इनकार कर दिया.

कोर्ट ने पाया था दोषी

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में प्रशांत भूषण को अवमानना का दोषी पाया था और माफी मांगने के लिए कहा था, लेकिन प्रशांत भूषण ने कोर्ट से माफी मांगने से इंकार कर दिया था.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: