Lead NewsOFFBEATTOP SLIDER

अविश्वसनीयः बंद खदान में चार दिनों से फंसे 4 लोग मौत को मात देकर आये बाहर

Ranchi : चंदनकियारी (बोकारो) में सोमवार को चमत्कार देखने को मिला. गत 26 नवंबर को पर्वतपुर कोलियरी की बंद पड़ी खदान में अवैध खनन का काम चल रहा था. अचानक खदान धंसने के कारण खनन कार्य में लगे लोग उसमें फंस गये. सोमवार की सुबह तक इसमें 4 श्रमिकों के फंसे होने की बात कही जा रही थी. उन्हें बचाने में एनडीआरएफ ने भी हाथ खड़े कर दिये थे. पर अंततः चारों मजदूर मौत को मात देकर 29 नवंबर को दोपहर से पूर्व बाहर आ गये. स्थानीय विधायक अमर कुमार बाउरी ने इसे अविश्वसनीय बताया.

Advt

लगातार घटनास्थल पर जाकर जायजा ले रहे बाउरी ने ट्विटर पर भी अपनी खुशी जाहिर की. कहा कि आज चंदनकियारी विधान सभा क्षेत्र में एकता, संघर्ष, धैर्य, साहस और आत्मविश्वास की जीत हुई है.

इसे भी पढ़ें:रांची-पटना के बीच चलनेवाली ट्रेन अलग-अलग तारीखों में रहेगी कैंसल, जानें टाइम टेबल

मजदूरों ने अपने हाथों बनाया उम्मीद का रास्ता

26 नवंबर को खदान धंसने के कारण फंसे सभी श्रमिक जब 29 नवंबर की सुबह खदान से बाहर आये तो अपना किस्सा बयां किया. इस पर हर कोई हैरत में रहा. मजदूरों की पहचान लक्ष्मण रजवार, रावण रजवार, भरत सिंह तथा अनादि सिंह के रूप में की गयी है. सभी तिलाटांड़ के रहनेवाले हैं. भरत सिंह ने ग्रामीणों तथा विधायक को बताया कि उन्हें भी खदान से बाहर निकलने की उम्मीद नहीं रह गयी थी.

खदान में जमा पानी के भरोसे ही किसी तरह उन्होंने अपना हर पल काटा. खदान में जान गंवाने के बजाये जिंदा रहने के लिए बाहर निकलने का रास्ता खुद ही बनाया.

इसे भी पढ़ें:मंत्री रामेश्वर उरांव ने केंद्र से MSP की मांगी गारंटी, कहा- कृषि कानून वापस लेने के बावजूद भी किसानों की चिंता नहीं हुई खत्म

पहले भगवान की पूजा, तब अस्पताल

मजदूरों के बाहर निकलने से गांव में जश्न का माहौल बन चुका है. सभी इस घटना को अद्भुत, अकल्पनीय और अविश्वसनीय मान रहे हैं. अब ग्रामीणों ने गांव के काली मंदिर में पूजा पाठ करने की घोषणा की. मजदूरों के खदान से बाहर निकलने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मौके पर पहुंच कर उनके स्वास्थ्य की जांच की.

हालांकि सभी मजदूरों व अन्य ने अतिरिक्त स्वास्थ्य जांच के लिए अस्पताल जाने से इनकार कर दिया. सभी ने पहले पूजा पाठ करने और इसके बाद इलाज के लिए जाने की बात कही.

इसे भी पढ़ें:झारखंड : 30वीं सीनियर नेशनल वुशु चैंपियनशिप-2021 में जलवा दिखायेंगे सन्नी देओल

जिला प्रशासन के साथ विधायक ने संभाल रखा था मोर्चा

अमर बाउरी के मुताबिक पर्वतपुर कोलियरी, चंदनकियारी में एक बंद पड़े खदान में पिछले 4 दिनों से 4 लोग फंसे हुए थे. उनके बचे होने की उम्मीद प्रति दिन कम होती जा रही थी. घटना की सूचना मिलने के बाद वे लगातार हर स्तर पर और हर माध्यम से बचाव कार्य के लिए प्रयासरत थे. लगातार जिला प्रशासन से संपर्क में बने हुए थे.

दो दिनों पूर्व मौके पर बीसीसीएल की बचाव टीम भी पहुंची थी. पर उसने अपने हाथ खड़े कर दिये थे. फिर 28 नवंबर की देर रात जिला प्रशासन व एनडीआरएफ टीम से भी उनकी बात हुई थी.

सोमवार से वृहद् पैमाने पर बचाव कार्य चलना था. पर इससे पहले आज जो हुआ, वो अकल्पनीय था. मां की असीम कृपा व मानवीय क्षमताओं की पराकाष्ठा के फलस्वरूप सोमवार को प्रातः काल चारों व्यक्ति स्वयं बाहर निकल आये.

इसे भी पढ़ें:पूर्व स्पिनर ने रंगभेद पर तोड़ी चुप्पी, कहा- अपने देश में भी किया भेदभाव का सामना

Advt

Related Articles

Back to top button