JharkhandLead NewsRanchi

बगैर नेटवर्क के ई-पॉश कैसे करे काम, राशन के लिए एक-एक सप्ताह तक डीलरों के पास दौड़ लगा रहे कार्डधारी

Ranchi. राज्य के कई इलाके खासकर ग्रामीण और सुदूरवर्ती इलाकों में राशन कार्डधारकों के सामने संकट बना हुआ है. नेटवर्क इश्यू के कारण ई-पॉश के जरिये राशन ले पाना चैलेंज साबित होता जा रहा है. विधानसभा के मॉनसून सत्र के दौरान विधायक भूषण बाड़ा में सिमडेगा का उदाहरण देते हुए कहा था कि जिले में नेटवर्क विहिन क्षेत्रों के ग्रामीणों के लिए राशन ले पाना गहरा सवाल है. ऐसी जगहों पर ऑफलाइन सुविधा बहाल की जानी चाहिये. अधिकांश गांवों में आज भी नेटवर्क नहीं है.

इसे भी पढ़ें : सुंदरनगर किंगडम हॉल से लापता महिला 11 घंटे बाद घर लौटी, मानसिक रूप से है विक्षिप्त

ऐसे में ई-पॉश मशीन के माध्यम से अंगूठा लगाकर राशन निकालना बेहद मुश्किल है. बदहाल नेट्वर्क के कारण जो राशन एक दिन में मिल जाना चाहिये, उसके लिये एक-एक सप्ताह का समय बर्बाद हो रहा है. सरकार (खाद्य आपूर्ति विभाग) के मुताबिक वन नेशन, वन राशन कार्ड का लाभ कार्डधारी लें. इससे कोई कहीं से भी राशन का उठाव कर सकता है. हालांकि हकीकत यह है कि इसकी जानकारी ही राज्य के कार्डधारकों को नहीं है.

advt

अपवाद पंजी का कार्डधारकों को देना है लाभ

खाद्य आपूर्ति विभाग के मुताबिक जन वितरण प्रणाली दुकानों के माध्यम से लाभुकों को ससमय एवं नियमानुसार खाद्यान्न की आपूर्ति करनी है. इसके लिये पीडीएस दुकानों के माध्यम से ऑनलाइन मोड का संचालन किया जाना अनिवार्य है. सिमडेगा में नेटवर्क क्नेक्टिविटी की जांच करायी गई है. इसके अनुसार 198 पीडीएस दुकानों को 12 डीबी एंटिना की सहायता से नेटवर्क क्नेक्टिविटी सुनिश्चित की जा रही है. जिले के 51 पीडीएस दुकानों को ऑफलाइन मोड में परिवर्तित किया जा रहा है. जिले में 22 जगहों पर 4जी नेटवर्क टावरों का अधिष्ठापन किया जा रहा है. देश में वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना लागू है.

इसे भी पढ़ें :रूपा तिर्की मौत मामलाः सीबीआई की फॉरेंसिक टीम पहुंची साहिबगंज, खंगाला जायेगा रूपा का कमरा

वैकल्पिक रजिस्टर की सुविधा

राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष हिमांशु शेखर चौधरी के मुताबिक नेटवर्क की समस्या वाली जगहों पर वैकल्पिक रजिस्टर की व्यवस्था से कार्डधारकों को लाभ दिये जाने का प्रावधान है. अगर ऐसा नहीं हो रहा तो स्थानीय स्तर पर जिला प्रशासन के पास शिकायत दर्ज हो. अगर आय़ोग के पास मामला आयेगा तो लीगल एक्शन लिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें : टी20 वर्ल्ड कप के बाद होनेवाला टीम इंडिया का न्यूजीलैंड दौरा स्थगित, जानिए क्या है वजह

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: