न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गिरिडीह : गला काटकर हत्या के बाद लूट लिया था ऑटो, महीने भर बाद तीन गिरफ्तार

एक माह पहले गिरिडीह के करमाटांड गांव में मिले शव की हुई पहचान, मामले का खुलासा

1,183

Giridih : गिरिडीह के मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के करमाटांड जंगल में एक माह पहले मिले सिर कटे शव की पहचान करते हुए पुलिस ने मामले का खुलासा कर लिया है. हत्या के तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

मृतक की पहचान बेंगाबाद के मोतीलेदा गांव निवासी तिलक महतो के रूप में की गयी है. तिलक की हत्या उसके ऑटो को लूटने के लिए की गयी थी. तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी और ऑटो की बरामदगी के बाद रविवार को पुलिस ने मामले का खुलासा किया.

पुलिस लाईन में संयुक्त प्रेसवार्ता में एसडीपीओ जीतवाहन उरांव व थाना प्रभारी रत्नमोहन ठाकुर ने बताया कि ऑटो लूटने के बाद करमाटांड जंगल में तिलक महतो की हत्या की गयी थी.

इसे भी पढ़ें : पलामू : दो दिन से गिरे हाइटेंशन तार को विभाग ने नहीं हटाया, करेंट से जिंदा जली महिला

छूरे से काट दिया गला

एसडीपीओ उरांव ने हत्या मामले में जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उसमें मुफ्फसिल थाना के जगपतारी गांव निवासी सद्दाम अंसारी, पचंबा थाना के बोड़ो निवासी निसारी अंसारी उर्फ मिटकु और बोरो का ही सूरज राय उर्फ नुनुवा शामिल हैं.

पुलिस पदाधिकारियों ने बताया कि तिलक महतो की हत्या सद्दाम ने धारदार छूरे से उसका गला काटकर की थी, जबकि सूरज और निसारी अंसारी सद्दाम को बैकअप दिये हुए थे. लूट की घटना को अंजाम देने के लिए सद्दाम ने ही तिलक को मरीज को अस्पताल पहुंचाने के बहाने करमाटांड जंगल बुलाया था.

पुलिस पदाधिकारियों ने यह भी बताया कि हत्या के बाद सद्दाम ने छूरा घटनास्थल पर ही छोड़ दिया था. अपने खून लगे टीशर्ट को भी जंगल में छोड़ दिया था.

इसे भी पढ़ें : निचली अदालतों को भी साइबर अपराधियों की बेल पर गंभीरता बरतने का है निर्देश : जस्टिस अनंत सिंह

ऑटो का रूप बदलकर चलाया जा रहा था

मृतक के ऑटो को लूटने के बाद सद्दाम ने उसका कायाकल्प कर दिया और उसे चला रहा था. कुछ दिन ऑटो को देवघर में भी छिपाया गया था.

मामले की जांच के दौरान पुलिस ने गुप्त सूचना पर छापेमारी कर शहर के स्वर्ण सिनेमा हॉल के समीप से ऑटो के साथ सद्दाम को दबोच लिया. उसकी निशानदेही पर सूरज और निसार को भी पकड़ा गया.

इसे भी पढ़ें : जमशेदपुर: मुख्यमंत्री रघुवर दास के ससुराल में लाखों की चोरी, पुलिस अब तक नहीं तलाश सकी है चोरों को

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: