Main SliderNational

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन, कई दिनों से थे बीमार

विज्ञापन

NW Desk : छत्तीसगढ़ के पहले और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन हो गया है. वे पिछले कई  दिनों से थे बीमार और वेंटिलेटर पर थे. 74 साल की उम्र में उन्होंने आखिरी सांस ली. उनके बेटे अमित जोगी ने इसकी जानकारी ट्वीट करके दी. दिन के डेढ़ बजे से  उनकी हालत ज्यादा खराब हो गयी थी. छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह ने पूर्व सीएम के निधन पर दुख जताया है.

इसे भी पढ़ें – रांची के कोचिंग संस्थानों की लूट कथा- 5: न मानते हैं कोई गाइडलाइन, न सार्वजनिक करते हैं जरूरी जानकारी

advt

अजीत जोगी के बेटे ने ट्वीट में लिखा है 

२० वर्षीय युवा छत्तीसगढ़ राज्य के सिर से आज उसके पिता का साया उठ गया।केवल मैंने ही नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ ने नेता नहीं,अपना पिता खोया है।माननीय अजीत जोगी जी ढाई करोड़ लोगों के अपने परिवार को छोड़ कर,ईश्वर के पास चले गए।गांव-गरीब का सहारा,छत्तीसगढ़ का दुलारा,हमसे बहुत दूर चला गया।

 

अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी ने ट्वीट करके कहा कि, वेदना की इस घड़ी में मैं निशब्द हूँ।परम पिता परमेश्वर माननीय @ajitjogi_cg जी की आत्मा को शांति और हम सबको शक्ति दे। उनका अंतिम संस्कार उनकी जन्मभूमि गौरेला में कल होगा।

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी के निधन पर शोक जताया है.

 

रायपुर में कई दिनों से वेंटिलेटर पर थे 

बता दें कि छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी गंभीर रूप से बीमार थे और उनकी तबीयत में कोई सुधार नहीं था. डॉक्टर्स उनके मस्तिष्क को क्रियाशील करने के लिए उनके पसंदीदा गाने उन्हें सुनवा रहे थे. रायपुर के श्री नारायणा अस्पताल में जोगी इलाजरत थे. अस्पताल के प्रबंध निदेशक डॉक्टर सुनील खेमका ने जो रिपोर्ट जारी की थी, उसमें बताया था कि हालत चिंताजनक है.

खेमका ने बताया था कि जोगी की न्यूरोलॉजिकल (मस्तिष्क) गतिविधियां लगभग नहीं के बराबर हैं. चिकित्सा नियमों के तहत उपचार जारी है और चिकित्सक उनके मस्तिष्क को क्रियाशील करने का पूरा प्रयास कर रहे हैं. लेकिन उसका कोई फायदा नहीं मिल पा रहा था.
जोगी को ऑडियो थेरेपी भी दी जा रही थी. जिसके तहत उनके पसंदीदा गानों को उन्हें ईयरफोन लगा कर सुनवाया जा रहा था. इससे यह कोशिश की जा रही थी कि सामान्य प्रक्रिया से उनका ब्रेन जागृत हो सके.

इसे भी पढ़ें – लोग मर रहे हैं और सरकारें घोटाला कर रही हैं

गार्डन में घूमने के दौरान इमली खाते बेहोश हो गये थे जोगी

बता दें कि 9 मई की सुबह व्हीलचेयर पर अजीत जोगी गार्डन में घूम रहे थे. इस दौरान उन्होंने इमली खाई और बाद में वह अचानक बेहोश हो गये थे. इसके बाद से ही वे रायपुर के अस्पताल में वेंटिलेटर पर थे.

भारतीय प्रशासनिक सेवा से राजनीति में आये अजीत जोगी वर्तमान में मारवाही क्षेत्र से विधायक हैं. उनकी पत्नी रेनु जोगी कोटा क्षेत्र से विधायक हैं. जोगी वर्ष 2000 में छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के दौरान यहां के पहले मुख्यमंत्री बने और वर्ष 2003 तक मुख्यमंत्री रहे. राज्य में वर्ष 2003 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी से पराजित हो गयी थी.
राज्य में कांग्रेस नेताओं से मतभेद के चलते जोगी ने वर्ष 2016 में नई पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) का गठन कर लिया था और वह उसके भी प्रमुख थे.

इसे भी पढ़ें – #FightAgainstCorona: 10 ट्राइबल लैंग्वेज में शॉर्ट ड्रामा, पपेट शो और गाने से कोरोना के प्रति जागरूक कर रहे कलाकार

 

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close