JharkhandLead NewsRanchi

जैविक और व्यावसायिक फार्मिंग से किसानों को मिलेगा लाभ, इस बार 20 हजार हेक्टेयर में होगी जैविक खेती

Ranchi : राज्य में विकास को गति देने के लिए कृषि पर खास फोकस किया जायेगा. राज्य सरकार जैविक खेती को बढ़ावा देने के साथ-साथ व्यावसायिक खेती पर ध्यान दे रही है. किसानों की आय बढ़ाने के लिए जैविक खेती पर अधिक जोर दिया जा रहा है. इस बार जैविक खेती के लिए रकबा भी बढ़ाया गया है. इस बार करीब 20 हजार हेक्टेयर में जैविक खेती की जायेगी.

अभी तक पांच हजार हेक्टेयर के आसपास जैविक खेती की जाती थी. जैविक खेती की सबसे अच्छी बात यह है कि इसके उत्पाद की मांग बढ़ती जा रही है. जिससे किसानों को अधिक लाभ मिलने की उम्मीद जतायी जा रही है.
कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि किसानों को अगर आगे बढ़ाया जाये तो राज्य का विकास तेज गति से होगा. किसान आज परंपरागत तरीके से खेती को छोड़ रहे हैं.

यह भी पढ़ें:गिरिडीह में बालू तस्करों के खिलाफ कार्रवाई जारी, भाजपा ने दी चेतावनी

जैविक खेती के उत्पादों को अधिक पसंद किया जा रहा है. उन्हें बाजार से उचित मूल्य दिलाने के लिए सरकार काम कर रही है, दलालों के चक्कर में पड़ कर किसानों को उनकी मेहनत का फल भी नहीं मिल पाता है. उनके हिस्से के 60 प्रतिशत तक का लाभ बिचौलिये उठा ले जाते हैं. लेकिन अब सरकार जिस पॉलिसी पर काम करेगी उसमें कृषि को प्राथमिकता दी गयी है.

स्टेट फार्मिंग पॉलिसी बनायी जा रही है

किसानों के लिए स्टेट फार्मिंग पॉलिसी बनायी जा रही है ताकि उन्हें अधिक लाभ मिल सके. कृषि विभाग इस संदर्भ में प्रस्ताव तैयार कर रहा है, जिसके लागू होने के बाद छोटे से लेकर बड़े किसानों को खेती के लिए कई तरह के सहयोग मिल सकेगा. साथ ही उन्हें आधुनिक तकनीक से खेती कराने के लिए प्रेरित किया जायेगा. किसानों को हाइब्रिड बीज के अलावा देसी बीजों का उपयोग करने की विधि बतायी जायेगी.

व्यावसायिक फार्मिंग के लिए लगेंगे प्रोसेसिंग प्लांट

राज्य के विभिन्न जिलों में व्यावसायिक फार्मिंग को बढ़ाने की दिशा में कई तैयारी की जायेगी. इसमें किसानों से उन उत्पादों की अधिक खेती कराने को जागरूक किया जायेगा, जिसकी मांग बाजार में सबसे अधिक है. साथ ही इसके लिए सभी जिलों में धीरे-धीरे प्रोसेसिंग यूनिट लगायी जायेगी, जिसके माध्यम से किसानों के उत्पादों की पैकिंग कर उचित माध्यम से बाजार तक पहुंचाया जा सके. इसमें बिचौलियों पर पूरी तरह से नकेल कसने का प्रयास होगा.

यह भी पढ़ें:रांची डीसी के निर्देश पर प्रतिबंधित पान मसाला व सिगरेट बेचनेवालों पर हुई कार्रवाई

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: