National

#JammuKashmir गये EU सांसदों ने कहा, #Pakistan करता है कश्मीर में #TerrorFunding

Srinagar : जम्मू-कश्मीर दौरे पर गये EU सांसदों ने भारत का समर्थन करते हुए कहा कि घाटी में पाकिस्तान से आतंकवादियों को फंडिंग होती है. सांसदों ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद सबसे बड़ी समस्या है और इसके खिलाफ जंग में हम भारत के साथ हैं.

Jharkhand Rai

पाकिस्तान द्वारा फैलाये गये झूठ के बीच यूरोपीय संघ के 23 सांसदों ने घाटी की दौरा कर  बुधवार को दुनिया को यह जानकारी दी.   जम्मू-कश्मीर के लोगों से मुलाकात करने के बाद विदेशी सांसदों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में आंखों देखा हाल सुनाया.  इस क्रम में EU सांसदों ने घाटी में आतंकियों को भेजने और उन्हें समर्थन करने को लेकर पाकिस्तान की जमकर आलोचना की.

हमें राजनीति से कोई लेना देना नहीं है

कहा कि हा अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल, स्थाई शांति और आतंक के खात्मे के प्रयासों में भारत का पूरा समर्थन करते हैं. हमारे स्वागत के लिए हम भारत सरकार और स्थानीय प्रशासन को धन्यवाद देते हैं. साथ ही इन सांसदों ने कहा कि उनके इस दौरे को गलत नजरिए से देखा गया. वो तो यहां तथ्य जुटाने आये हैं. उन्होंने कहा कि हमें राजनीति से कोई लेना देना नहीं है.

इन सांसदों ने दक्षिणपंथी विचारधारा के होने के विपक्ष के हमलों पर कहा कि वो फासीवादी नहीं हैं. अगर फासीवादी होते तो जनता उन्हें नहीं चुनती. उन्होंने ये भी कहा कि आतंकवाद से किसी देश को तबाह नहीं होने दे सकते.

Samford

इसे भी पढ़ें : #UN ने कहा, #Kashmir के हालात पर दायर याचिकाओं पर  #SC में सुनवाई की गति धीमी

आंतकवाद वैश्विक समस्या है : EU सांसद

यूरोपीय सांसदों ने आतंकवाद के मसले पर भारत के प्रति अपना समर्थन जाहिर किया. उन्होंने एक सुर में कहा कि आंतकवाद वैश्विक समस्या है.  यूरोपीय संसद के सदस्य थियरी मरियानी ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि मैं  20 बार भारत आ चुका हूं. इससे पूर्व दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु जैसे शहरों में गया था. कहा कि हमारा लक्ष्य जम्मू-कश्मीर को लेकर जानकारी हासिल करना था. थियरी मरियानी  ने कहा कि कश्मीर में स्थितियां अब लगभग सुलझने को हैं.

एक सांसद ने कहा कि आतंकवाद वैश्विक समस्या है, जिससे हम सभी लोग जूझ रहे हैं. इस मसले पर हमें भारत का समर्थन करना चाहिए. उन्होंने बताया कि हमने अपने दौरे में ऐक्टिविस्ट्स से मुलाकात की, जिन्होंने शांति को लेकर अपना विजन बताया. मरियानी ने कहा कि हमने सिविल सोसायटी के लोगों से भी मीटिंग की.

इसे भी पढ़ें :  कश्मीर: आतंकी हमले में बंगाल के पांच मजदूरों की मौत के बाद बढ़ायी गयी सुरक्षा 

मजदूरों की हत्या को दर्दनाक करार दिया

युनाइटेड किंगडम के यूरोपीय सांसद बिल न्यूटन ने मंगलवार को हुई मजदूरों की हत्या को दर्दनाक करार दिया.  उन्होंने कहा कि आतंकियों की ओर से ऐसी हत्याएं किया जाना दर्दनाक है. न्यूटन ने कहा कि भारत का हमेशा से शांति का इतिहास रहा है. कल हमने सिविल सोसायटी के लोगों समेत काफी लोगों से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने यहां केंद्र सरकार से आने वाले पैसों में करप्शन की भी बात बताई.

एक अन्य सांसद ने कहा कि हमें भारत को समर्थन करने की जरूरत है. भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है. जान लें कि  यूरोपीय संसद के 23 सदस्य मंगलवार को दो दिवसीय जम्मू-कश्मीर के दौरे पर पहुंचे थे. हालोंकि इस दौरे को लेकर विपक्षी दलों ने सवाल उठाते हुए कहा कि जब देश के सांसदों को एयरपोर्ट से ही लौटा दिया जा रहा है तो फिर विदेशी सांसदों को कश्मीर में जाने क्यों दिया गया.

इसे भी पढ़ें : 16 वर्षीय #GretaThunberg का पर्यावरण पुरस्कार लेने से इनकार, कहा, सत्ता में बैठे लोग  #Science का अनुसरण करें

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: