न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

छत्तीसगढ़ और उत्तराखंड से महंगी है झारखंड में बिजली, अब वितरण निगम को 43 लाख कंज्यूमर से चाहिए 21,629 करोड़

बिजली खरीद के लिए 6172.39 करोड़ और ट्रांसमिशन चार्ज के लिए 229.10 करोड़ का प्रस्ताव नियामक आयोग को सौंपा

119

Ravi Aditya

Ranchi: झारखंड के साथ बने राज्य उत्तराखंड और छत्तीसगढ़ से भी महंगी बिजली झारखंड में है. छत्तीसगढ़ में घरेलू उपभोक्ताओं को बीपीएल सहित 2.55 रुपये प्रति यूनिट से 4.90 रुपये प्रति यूनिट देने पड़ते हैं. जबकि झारखंड में घरेलू उपभोक्ताओं को वर्तमान में 5.25 से 5.50 रुपये प्रति यूनिट चुकाने पड़ते हैं. वहीं उत्तराखंड में घरेलू उपभोक्ताओं को 4.04 रुपये प्रति यूनिट चुकाना पड़ता है. वहीं झारखंड में कॉमर्शिल उपभोक्ताओं को प्रति यूनिट 6.00 रुपये देने होते हैं जबकि उत्तराखंड में कॉमर्शियल उपभोक्ताओं को प्रति यूनिट 5.83 रुपये देने पड़ते हैं.

नियामक आयोग को सौंपा 21 हजार 629 करोड़ का प्रस्ताव

झारखंड राज्य बिजली वितरण निगम को अपना राजस्व घाटा पाटने के लिए 43 लाख बिजली उपभोक्ताओं से कुल 21629.49 करोड़ रुपये चाहिए. इसका प्रस्ताव वितरण निगम ने झारखंड राज्य विद्युत नियामक आयोग को सौंप दिया है. सौंपे गये आवेदन में अपर मुख्य सचिव वित्त सुखदेव सिंह, विकास आयुक्त डीके तिवारी, ऊर्जा सचिव वंदना दादेल और वितरण निगम के एमडी राहुल पुरवार ने हस्ताक्षर किया है. वितरण निगम के इस प्रस्ताव पर झारखंड राज्य विद्युत नियामक आयोग पांचों प्रमंडलों पर जनसुनवाई की प्रक्रिया शुरू करेगा.

वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए चाहिए 7262 करोड़

नियामक आयोग को सौंपे गये आवेदन में वितरण निगम ने पूरे घाटे को पाटने के लिए 21629.49 करोड़ रुपये का प्रस्ताव दिया है. जबकि 2019-20 के लिए 7262 करोड़ का राजस्व का प्रस्ताव है. शेष 14367.58 करोड़ रुपये को रेगुलेटरी एसेट बनाने का आग्रह किया है. रेगुलेटरी एसेट के हर साल बिजली दर में बढ़ोत्तरी कर घाटा को पाटा जा सकेगा.

वित्तीय वर्ष 2019-20 में किस मद में कितनी राशि का प्रस्ताव

मद                                     राशि (करोड़ में)

बिजली खरीद                        6172.39 करोड़
ट्रांसमिशन चार्ज                     229.10 करोड़
ऑपरेशन व मेनटेनेंस खर्च       594.02 करोड़
डिप्रिशियेशन                        462.85 करोड़
लोन पर ब्याज                       339.26 करोड़
इक्विटी रिटर्न                         305.13 करोड़
वर्किंग कैपिटल पर ब्याज        50.55 करोड़
सिक्यूरिटी डिपोजिट पर ब्याज  48.53 करोड़

ऐसा है नई बिजली दर का प्रस्ताव

श्रेणी वर्तमान          दर(रुपये प्रति यूनिट)           प्रस्तावित दर(रुपये प्रति यूनिट)

घरेलू(ग्रामीण)                   4.75                                       6.00
घरेलू (शहरी)                    5.50                                       6.00
कॉमर्शियल(ग्रामीण)           5.25                                       7.00
कॉमर्शियल(शहरी)             6.00                                       7.00
सिंचाई                              5.00                                       5.00
औद्योगिक(लो टेंशन)            5.50                                      6.00
औद्योगिक(हाई टेंशन)           5.75                                      6.00
औद्योगिक(हाई टेंशन स्पेशल)  4.00                                     6.00

इसे भी पढ़ेंःपलामू: JJMP नक्सली की पीट-पीट कर हत्या, महिला से छेड़छाड़ करने पर ग्रामीणों ने उतारा मौत के घाट

इसे भी पढ़ेंः90 लाख खर्च कर RMSW 33 वार्डों में करती है सफाई, जबकि 20 वार्डों में निगम करता है 3 करोड़ खर्च

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: