BusinessNational

#EconomyRecession का दलाल स्ट्रीट पर असर: शेयरखान ने अपने 400 कर्मचारियों को फर्म छोड़ने को कहा

New Delhi: मंदी का असर हर सेक्टर में देखने को मिल रहा है. BNP परिबा की रिटेल ब्रोकिंग इकाई शेयरखान ने अपने 400 से अधिक कर्मचारियों को काम से निकाल दिया है.

Jharkhand Rai

बताया जा रहा है कि ऑनलाइन ब्रोकिंग मॉडल और घटते रेवेन्यू के कारण ब्रोकरेज फर्म स्टाफ घटा रही है. ‘द इकोनॉमिक्स टाइम्स’ की खबर के अनुसार, फर्म से जुड़े एक शख्स ने बताया कि करीब 400 कर्मचारियों को जाने के लिए कह दिया गया है.

इसे भी पढ़ेंः#LakshmiVilasBank में 790 करोड़ का घोटाला, निदेशकों के खिलाफ मुकदमा

इतना ही नहीं आनेवाले कुछ सप्ताह में अभी और लोगों को जाने के लिए कहा जाएगा. जिन कर्मचारियों को नौकरी छोड़ने के लिए कहा गया है, उनमें ज्यादातर सेल्स और सपोर्ट विभाग के हैं.

Samford

करीब 400 लोगों को फर्म छोड़ने को कहा गया

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस बाबत शेयरखान को भेजे गए ई-मेल के जवाब में कंपनी के प्रवक्ता ने बताया कि करीब 350 कर्मचारियों को फर्म छोड़ने के लिए कहा गया है.

हालांकि, कंपनी ने यह साफ नहीं किया कि और कर्मचारियों की छंटनी होगी या नहीं.

इसे भी पढ़ेंःपानी-पानी पटनाः भारी बारिश और जलजमाव के कारण जनजीवन प्रभावित, स्कूल बंद

‘द इकोनॉमिक्स टाइम्स’ के सवालों के जवाब में प्रवक्ता ने कहा, “हमारा बिजनेस हमारे ग्राहकों की विशिष्ट जरूरतों के आधार पर बढ़ रहा है. इसमें वैल्यू एडेड एडवाइजरी सेवा भी शामिल है, जहां हम भर्ती कर रहे हैं. ग्राहकों की मांग के मद्देनजर हम तेजी से डिजिटल सेवाओं की तरफ बढ़ रहे हैं. डिजिटलाइजेशन और रिस्ट्रक्चरिंगकी वजह से अगले कुछ महीनों तक क्रमवार रूप से जारी रहेंगे. इस प्रक्रिया की वजह से 350 कर्मचारी प्रभावित हुए हैं.”

इंडस्ट्री से जुड़े कर्मचारियों का कहना है कि छंटाई से पहले शेयरखान के पास करीब 3000 कर्मचारी हैं. शेयरखान की ग्रोथ रणनीति में बदलाव और फ्रेंचाइजी आधारित बिजनेस से डिजिटल प्लेटफॉर्म की तरफ शिफ्ट कर रहा है.

फर्म के लोगों का कहना है कि डिस्काउंट ब्रोकिंग फर्म को बढ़ती प्रतियोगिता के चलते पारंपारिक ब्रोकिंग मॉडल से मुनाफा कमाना कठिन हो गया था.

इसे भी पढ़ेंःसरकार के आश्वासन को टालने का बहाना मानते हैं #ParaTeachers, पढ़िये क्या कह रहे हैं

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: