HEALTHLead NewsNational

कोरोना काल में जिन्होंने बिना डॉक्टरी सलाह के ज्यादा इस्तेमाल किया गिलोय, उनका लिवर हुआ खराब, पेट में बने खून के थक्के

Kanpur : संस्कृति की एक सुक्ति है अति सर्वत्र वर्जयते. यह अधिकतर मामलों में सही बैठती है. इसका ताजा उदाहरण कोरोना काल में भी सामने आया है. कोरोना से बचने के लिए इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए जिन लोगों ने बिना डॉक्टरी सलाह के जरूरत से ज्यादा गिलोय का सेवन किया है उनको लीवर संबंधी परेशानी हो रही है.

इसे भी पढ़ें:हाईकोर्ट ने कहा, पत्नी पढ़ी-लिखी है, ये दलील देकर नहीं कर सकते गुजारा भत्ता देने से इनकार

शोध में हुई पुष्टि

Chanakya IAS
SIP abacus
Catalyst IAS

कानपुर के जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के सभागार में आइएमए सीजीपी के रिफ्रेशर कोर्स में हैदराबाद से आए डॉ. संदीप लखटकिया ने कहा है कि कोरोना काल में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए डाक्टरों की सलाह के बिना लोगों ने खूब गिलोय के कैप्सूल खाए.इससे पेट में खून के थक्के बन गए हैं और लिवर फंक्शन खराब हो गया है. शोध में इसकी पुष्टि हुई है.

The Royal’s
Sanjeevani
MDLM

डा. संदीप ने बताया कि एंडोस्कोपिक अल्ट्रासाउंड से पेट में छिपे रोगों को आसानी से पकड़ा जा सकता है.
इस दौरान, कार्यक्रम निदेशक डा. विकास गुप्ता, चेयरपर्सन डा. अशोक वर्मा, डा. अजय तिवारी व डा. देवज्योति देवराय रहे.

इसे भी पढ़ें:हाईकोर्ट: सरकारी दस्तावेज गायब होना गंभीर मामला, सभी एसएआर कोर्ट दस्तावेज रखरखाव की दें जानकारी

Related Articles

Back to top button