Khas-KhabarRanchi

रिम्स को मेडिकल यूनिवर्सिटी बनाने के लिए तैयार हुआ ड्राफ्ट, हेल्थ डिपार्टमेंट की हामी का इंतजार

विज्ञापन

Ranchi: राज्य के सबसे बड़े अस्पताल और मेडिकल कॉलेज रिम्स को यूनिवर्सिटी बनाने की तैयारी शुरु हो गयी है. इसके लिए ड्राफ्ट भी तैयार कर लिया गया है. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग और अन्य विभागों की सहमति के बाद कैबिनेट की स्वीकृति हो सकेगी. इसके अलावा इसे विधानसभा से पास कराना जरुरी होगा.

सभी कार्यवाही पाइपलाइन में है, जल्दी ही इसे पूरा कर लिया जाएगा. और रिम्स को मेडिकल यूनिवर्सिटी के रुप में अपग्रेड कर दिया जाएगा. राज्य में फिलहाल छह मेडिकल कॉलेज संचालित हैं. मेडिकल यूनिवर्सिटी की स्थापना हो जाने से सभी मेडिकल कॉलेज एक ही मेडिकल यूनिवर्सिटी के अंतर्गत आएंगे.

वर्तमान में सभी मेडिलक कॉलेज अलग-अलग यूनिवर्सिटी के अंतर्गत आते हैं. ड्राफ्ट की रुपरेखा के अनुसार, राज्यपाल कुलाधिपति होंगे. वे ही कुलपति नियुक्त करेंगे. इसके अलावा स्वास्थ्य मंत्री और स्वास्थ्य सचिव एक्जीक्यूटिव कमिटी में होंगे.

इसे भी पढ़ें – CoronaUpdate: देश में संक्रमितों का आंकड़ा दो लाख के पार, महज 15 दिनों में एक लाख नये केस

फैकल्टी एक दूसरे मेडिकल कॉलेजों में जाकर ले सकेंगे क्लास

राज्य में मेडिकल कॉलेज की स्थापना हो जाने से प्रोफेसर एक दूसरे के मेडिकल कॉलेजों में जाकर लेक्चर दें सकेंगे. इसके अलावा मेडिकल कॉलेजों का एकेडमिक अपग्रेडेशन भी हो सकेगा. मेडिकल कॉलेज की स्थापना हो जाने से परीक्षा पैटर्न, सिलेबस और रिजल्ट में एकरुपता आ जाएगी. वर्तमान में परीक्षाएं और कोर्स का पैटर्न संबंधिति यूनिवर्सिटी द्वारा तय किया जाता है. जिससे एकरुपता नहीं हो पाती.

केंद्र सरकार से भी मिल सकेगा फंड, स्टूडेंटस कर सकेंगे शोध

राज्य में पुराने तीन मेडिकल कॉलेज थे. वहीं तीन नये कॉलेज हैं. और तीन मेडिकल कॉलेज पाइपलाइ में हैं. वर्तमान में छह मेडिकल कॉलेज संचालित हैं. जिसमें से किसी में भी रिसर्च नहीं होता.

मेडिकल कॉलेज की स्थापना के बाद छात्र रिसर्च कर सकेंगे. और रिसर्च को बढ़ावा दिया जा सकेगा. इसके अलावा यूनिवर्सिटी की स्थापना हो जाने से केंद्र सरकार से यूनिवर्सिटी को दिया जाने वाला फंड भी मिलेगा. जिससे राज्य में मेडिकल एजुकेशन को बढ़ावा भी दिया जा सकेगा.

इसे भी पढ़ें – दिल्ली हिंसा: पुलिस ने ताहिर हुसैन को बताया मास्टरमाइंड, एक करोड़ 10 लाख खर्च करने का भी आरोप

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close