Corona_UpdatesHEALTHLead NewsNationalTOP SLIDER

AIMS के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने दी हिदायत, बेवजह ना कराये सीटी स्कैन

एक सीटी-स्कैन 300 छाती एक्स-रे के बराबर, कैंसर की बढ़ती है आशंका

New Delhi : जितनी तेजी से कोरोना वायरस फैल रहा है, उतनी ही तेजी से उसका आतंक भी बढ़ता जा रहा है. इस डर के चक्कर में कई बार लोग बेवजह डॉक्टरों के चक्कर लगा रहे हैं, जांच करवा रहे हैं और गैर-जरुरी दवाएं ले रहे हैं.

समय-समय पर डॉक्टरों और विशेषज्ञों की चेतावनी के बावजूद सीटी स्कैन कराने का ट्रेंड बढ़ता जा रहा है. इसे देखते हुए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने हिदायत दी है कि इसके ज्यादा इस्तेमाल से कैंसर की आशंका हो सकती है.

advt

बहुत ज्यादा लोग करा रहे हैं सीटी स्कैन

डॉ. गुलेरिया ने कहा कि आजकल बहुत ज्यादा लोग सीटी स्कैन करा रहे हैं. अगर सीटी स्कैन की जरूरत नहीं है तो उसे कराकर आप खुद को ही ज्यादा नुकसान पहुंचा रहे हैं.

इसकी वजह ये है कि सीटी स्कैन से आप खुद को रेडिएशन के संपर्क में ला रहे हैं और इसके ज्यादा संपर्क में आने से बाद में कैंसर होने की आशंका बढ़ सकती है.

एक सीटी-स्कैन 300 छाती एक्स-रे के बराबर है, यह बहुत हानिकारक है. उन्होंने कहा कि सीटी-एससीएन और बायोमार्कर का दुरूपयोग किया जा रहा है. हल्के लक्षण होने पर सीटी-स्कैन कराने की कोई जरुरत नहीं है.

इसे भी पढ़ें :कोरोना ने ली एक और अधिकारी की जिंदगी, DWSD के चीफ इंजीनियर सृष्टिधर मोदी का निधन

घर में इलाज करा रहे लोग स्टेरॉइड ना लें

इसके अलावा दवाओं के दुरूपयोग को लेकर भी डॉक्टर गुलेरिया ने कहा कि घर में इलाज करा रहे लोग स्टेरॉइड ना लें. मध्यम लक्षण में ही स्टेरॉइड दिया जाता है. मॉडरेट बीमारी में तीन तरीके से इलाज होगा.

सबसे पहले ऑक्सीजन दीजिए, क्योंकि ऑक्सीजन भी दवा है. उसके बाद स्टेरॉइड दे सकते हैं. होम आइसोलेशन में रह रहे लोग अपने डॉक्टर के संपर्क में रहें. ऑक्सीजन सैचुरेशन 93 या उससे कम हो रहा हो, बेहोशी जैसे हालात हो, छाती में दर्द हो तो फौरन डॉक्टर से संपर्क करें.

देश में 81.77 % मरीज हुए ठीक

उधऱ, देश में कोरोनावायरस की स्थिति को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश में अब तक 81.77 फीसदी मामले ठीक हुए हैं और देश में अभी भी करीब 34 लाख सक्रिय मामलों की संख्या बनी हुई है.

संक्रमण से अब तक 2 लाख के करीब मौतें हुई हैं. पिछले 24 घंटे में देश में 3,417 लोगों की मृत्यु दर्ज की गई हैं.

देश में 12 राज्य ऐसे हैं जहां 1 लाख से भी ज्यादा सक्रिय मामले हैं, जबकि 7 राज्यों में 50,000 से 1 लाख के बीच सक्रिय मामलों की संख्या बनी हुई है. दूसरी तरफ 17 राज्य ऐसे हैं जहां 50,000 से भी कम सक्रिय मामलों की संख्या बनी हुई है.

इसे भी पढ़ें :मेडिकल इंटर्न को भी कोविड ड्यूटी में लगायेगी सरकार, जीएनएम क्वालिफाइड नर्सों की भी लगेगी ड्यूटी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: