न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धू…धू…कर जल रहा था रावण, पटाखों के शोर के बीच ट्रेन की चपेट में आये 61 लोगों की मौत, 50 से अधिक घायल

जब यह हादसा हुआ, तब कई लोग अपने मोबाइल से कार्यक्रम का वीडियो बना रहे थे.  वे लोग पटरियों पर सेल्फी ले रहे थे और जश्न मना रहे थे.

225

 Amritsar : पंजाब के अमृतसर के पास शुक्रवार को रावण दहन कार्यक्रम देख रहे लोगों पर मौत कहर बन कर आयी. रावण दहन देख रहे सैकड़ों लोग ट्रेन की चपेट में आ गये.  इस हादसे में 61 लोगों की मौत और 51 के घायल होने की पुष्टि प्रशासन ने की है. जब यह हादसा हुआ, तब कई लोग अपने मोबाइल से कार्यक्रम का वीडियो बना रहे थे.  वे लोग पटरियों पर सेल्फी ले रहे थे और जश्न मना रहे थे.  हादसा अमृतसर में मनावला और फिरोजपुर स्टेशनों के बीच फाटक नंबर 27 के पास हुआ. हादसा जिस समय हुआ, उस समय वहां रावण दहन देखने के लिए लोगों की भीड़ जुटी हुई थी. इसी दौरान डीएमयू ट्रेन नंबर 74943 वहां से गुजर रही थी.  रावण दहन के वक्त पटाखों की तेज आवाज के कारण ट्रेन का हॉर्न लोगों को नहीं सुनाई पड़ा.  इसकी वजह से यह हादसा हो गया.  मौके पर कम से कम 300 लोग मौजूद थे, जो पटरियों के निकट  मैदान में रावण दहन देख रहे थे. अमृतसर के प्रथम उपमंडलीय मजिस्ट्रेट राजेश शर्मा ने बताया कि 50 शवों को बरामद किया गया है और कम से कम 50 घायलों को एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

उन्होंने बताया कि दो विपरीत दिशाओं से एक साथ दो ट्रेनें आयीं और लोगों को बचने का बहुत कम समय मिला.  उन्होंने बताया कि एक ट्रेन की चपेट में कई लोग आ गये. प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है, प्रशासन और दशहरा कमिटी की गलती है. उन्हें ट्रेन के बारे में सूचित करना चाहिए था.  उन्हें यह भी तय करना चाहिए था कि यहां पर ट्रेन या तो ठहरे या धीमी हो.

इसे भी पढ़ें – राफेल डील : जेटली-राहुल के बीच जुबानी जंग तेज, बात बातूनी ब्लॉगर, विदूषक युवराज तक पहुंची 

hosp3

पंजाब में एक दिन के राजकीय शोक का ऐलान

घटना के बाद पंजाब सरकार की ओर से मृतकों के परिजनों के लिए पांच-पांच लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया गया है.  पंजाब सरकार ने राज्य में एक दिन के राजकीय शोक का ऐलान किया है.  साथ ही शनिवार को राज्य के सभी स्कूलों को भी बंद रखने के आदेश जारी किये हैं. पिछले कई वर्षों से यहां दशहरे के अवसर पर रावण दहन का आयोजन किया जाता था;  प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार इस साल भी यहां रावण दहन का आयोजन किया गया था;  दहन के दौरान पटाखों की आवाज तेज होने की वजह से वहां मौजूद लोग ट्रेन के हॉर्न की आवाज नहीं सुन पाये और यह घटना हो गयी.  घटना के बाद पुलिस, जीआरपी की टीमें मौके पर पहुंच गयी.   साथ ही घटना स्थल पर स्थानीय लोगों की मदद से बचाव कार्य चलाया जा रहा है.  पुलिस कमिश्नर एसएस श्रीवास्तव ने कहा कि मरने वालों की वास्तविक संख्या का पता नहीं चल पाया है लेकिन यह बात पुष्ट है कि 50-60 लोगों से ज्यादा की मौत हुई है.  हम अभी भी बचाव कार्य में जुटे हैं.

इसे भी पढ़ें – एमजे अकबर की मुसीबत बढ़ी, पत्रकार रमानी के समर्थन में 20 महिला पत्रकार, देंगी गवाही

अमृतसर में हुए ट्रेन हादसे से बहुत दुखी हूं : पीएम मोदी

प्रधानमंत्री  मोदी ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया, अमृतसर में हुए ट्रेन हादसे से बहुत दुखी हूं.  यह घटना हृदय विदारक है. मेरी गहरी संवेदना मृतकों के परिवारवालों के साथ है और मैं प्रार्थना करता हूं कि जल्द से जल्द घायल पूर्णतया स्वस्थ हों.  अधिकारियों से बातचीत कर उन्हें तुरंत मदद के निर्देश दिये हैं.

सीएम ने अपना इजरायल दौरा रद्द कर दिया

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, अमृतसर में हुए इस हादसे के बारे में जानकर स्तब्ध हूं.  सीएम ने अपना इजरायल दौरा रद्द कर दिया है. साथ ही सीएम ने सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में मदद मुहैया कराने का निर्देश दिया.  जिला प्रशासन को युद्धस्तर पर राहत एवं बचाव कार्य चलाने को कहा.  बता दें कि इस हादसे के बाद कैप्टन अमरिंदर ने मुख्यमंत्री शनिवार को अमृतसर पहुंचेंगे.

राजनाथ सिंह ने  संवेदना जताई : केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इस घटना से दुखी हूं.  मेरी संवेदना मृतकों के परिवारों के साथ है और घायलों के स्वस्थ होने की मैं कामना करता हूं.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: