DhanbadJharkhand

चीन की माइनिंग कंपनी में स्थानीय लोगों को नहीं मिल रहा रोजगार, उग्र आंदोलन की तैयारी

Dhanbad : बाघमारा के जोगीडीह स्थित चीन की मेनिफ कंपनी में स्थानीय लोगों को रोजगार नहीं देने की बात कहकर संयुक्त मोर्चा ने पोचरी स्थित जेएमएम कार्यालय में प्रेस वार्ता की. प्रेस वार्ता में संयुक्त मोर्चा के नेताओं ने कहा कि चीन की कंपनी स्थानीय लोगों को रोजगार नहीं देकर बाहरी लोगों को रोजगार देने का काम कर रही है.

उन्होंने बताया कि इस कंपनी ने विधायक ढुल्लू महतो से सेटिंग कर ली थी, जिस कारण यहां स्थानीय मजदूरों को रोजगार नहीं दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि अगर यह कंपनी स्थानीय लोगों को रोजगार नहीं देगी तो हमलोग अपनी मांगों को लेकर उग्र आंदोलन करने को बाध्य होंगे.

उन्होंने प्रेस वार्ता में बताया कि यह चाइनीज कंपनी जोगीडीह में लगभग पिछले तीन वर्षों से अंडरग्राउंड माइंस चला रही है. शुरुआती दौर में विधायक ढुल्लू के लगभग 60 समर्थकों को कंपनी ने दो सौ रुपये हाजिरी पर रोजगार देने का काम किया था. उन्होंने कहा था कि अभी इतने में काम करो. बाद में तुम लोगों को स्थायी कर दिया जायेगा.

संयुक्त मोर्चा के नेताओं ने आरोप लगाया कि उक्त कंपनी विधायक की उम्मीदों पर खड़ा नहीं उतर पायी. कंपनी को 2018 में बंद करना पड़ा.

इसे भी पढ़ेंः कार्निवाल और सेलेब्रेशन हॉल में देर रात तक लाउडस्पीकर से होता है ध्वनि प्रदूषण, सीएम को शिकायत

गार्ड से लेकर मजदूर तक हैं दूसरे राज्य के

यह कंपनी 2019 के दिसंबर माह में फिर से चालू हुई लेकिन अब यहां पर स्थानीय लोगों को रोजगार नहीं दिया जा रहा है. उन्होंने बताया कि उक्त कंपनी में गार्ड से लेकर मजदूर तक बिहार, बंगाल के साथ झारखंड के दूसरे जिलों के लोग हैं.

स्थानीय लोगों को रोजगार नहीं दिया जा रहा है. कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि उन पर ऊपर से काफी दबाव है. इसलिए वे बाघमारा के लोगों को रोजगार नहीं दे सकते.

इसे भी पढ़ेंः हेमंत सोरेन ने वापस लिया रघुवर दास पर दर्ज एससी-एसटी केस, बोले बदले की भावना से सरकार नहीं करेगी काम

बाघमारा में नहीं चलने देंगे जंगलराज

संयुक्त मोर्चा के अजमुल अंसारी, बलदेव वर्मा आदि ने कहा कि अब बाघमारा में जंगल राज नहीं चलने देंगे. विधायक ढुल्लू महतो के कारण यहां के युवाओं की जिंदगी नरक बन गयी थी. रोजगार के अभाव में यहां से 60 प्रतिशत युवा पलायन कर गये.

उन्होंने कहा कि अब ऐसा नहीं होगा. सूबे की हेमंत सोरेन की सरकार हर हाल में स्थानीय लोगों को रोजगार देने का काम करेगी और झारखंड से बेरोजगारी की समस्या समाप्त होगी.

इसे भी पढ़ेंः #Dhanbad : बीसीसीएल के डीओसीपी में काम करनेवाले गार्ड का शव फंदे से लटकता हुआ मिला, लोगों ने जतायी हत्या की आशंका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button