न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हाल पेयजल व स्वच्छता विभाग काः बगैर स्वीकृति के निकाला 10.52 करोड़ का टेंडर, फिर करना पड़ा कैंसल

सात करोड़ की निविदा की बढ़ायी तारीख, 20 करोड़ की निविदा को रद्द करने पर हो रहा विचार

917

Ranchi: झारखंड सरकार ने राष्ट्रीय ग्रामीण जलापूर्ति कार्यक्रम (NRDWP) के सामान्य योजना से संबंधित 30 करोड़ से अधिक की निविदा में से आधे को रद्द कर दिया है. रांची में 10.52 करोड़ की लागत से क्रियान्वित होनेवाली 747 योजनाओं से संबंधित टेंडर को रद्द कर दिया गया है. इसके अलावा सात करोड़ से अधिक की निविदा की तारीख विभाग की तरफ से बढ़ा दी गयी है.

इसे भी पढ़ेंःगोमियाः लापरवाही ने ली दो मासूमों की जान, लोगों में ईंट भट्टा संचालक के खिलाफ रोष

इतना ही नहीं 20 करोड़ की निविदा को रद्द करने पर भी विचार चल रहा है. इससे पूर्व पेयजल और स्वच्छता विभाग के रांची पश्चिम और रांची पूर्वी प्रमंडल की तरफ से निविदा चार मार्च को प्रकाशित की गयी थी. इसमें कहा गया था कि सात मार्च को इस टेंडर को वेबसाइट पर अपलोड किया जायेगा. लेकिन 12 मार्च तक इसे अपलोड नहीं किया गया. पूछने पर बताया गया कि विभागीय प्रमुख से सौर ऊर्जा आधारित योजना की मंजूरी नहीं मिलने से इसे रद्द कर दिया गया है.

यहां यह बताते चलें कि झारखंड समेत पूरे देशभर में 10 मार्च की शाम से आदर्श आचार संहिता भी लागू हो गयी है. आदर्श आचार संहिता को देखते हुए दुमका प्रमंडल में निकाली गयी 5.02 करोड़ की योजना, लोहरदगा प्रमंडल में निकाली गयी 1.37 करोड़ की योजना, गढ़वा प्रमंडल में निकाली गयी 10 करोड़ से अधिक की योजना की तारीख भी बढ़ा दी गयी है.

इसे भी पढ़ेंःमसूद अजहर आज घोषित होगा वैश्विक आतंकवादी ? या फिर से चीन लगायेगा अड़ंगा

SMILE

क्या थी योजना

योजना के तहत चयनित कुआं और नलकूप में सोलर पंप लगाया जाना था. एक एचपी से लेकर तीन एचपी के सबमर्शिबल मोटर पंप के साथ-साथ साइट पर चार से पांच हजार लीटर की पानी की टंकी भी लगानी थी. इसके अलावा सभी जलापूर्ति पाइपलाइन कनेक्शन एचडीपीई को लगाने और अन्य औपचारिकताएं पूरा करने को कहा गया था. स्वीकृत योजना में पानी की टंकी रखने के लिए एमएस पाइप का एंगल और ब्रैकेट भी लगाना था. योजना को 60 से 90 दिनों के भीतर पूरा करने की शर्त भी रखी गयी थी.

इसे भी पढ़ेंःआतंकी मसूद अजहर को ‘जी’ कहने पर राहुल के खिलाफ शिकायत, मुजफ्फरपुर में परिवाद पत्र दायर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: