JamshedpurJharkhandKhas-Khabar

Jamshedpur : आदित्यपुर इंडस्ट्रियल एरिया में नियमों को ताक पर रखकर की गयी डीप बोरिंग

नगर निगम की टीम की जांच में हुआ खुलासा, दो कंपनियों को दिया गया नोटिस, जांच में सामने आ सकती है कई अनियमितताएं

Jamshedpur : आदित्यपुर इंडस्ट्रि‍यल एरिया में नियमों को ताक पर रखकर डीप बोरिंग करने का मामला सामने आया है. इस मामले में नगर निगम की जांच टीम ने दो कंपनियों को नोटिस भी दिया है. दरअसल, गर्मी के मौसम में क्षेत्र में पानी की किल्लत को देखते हुये नगर निगम ने डीप बोरिंग करने में नियमों की अनदेखी करनेवालों के खिलाफ सख्ती बरतते हुये अभियान की शुरुआत की है. इसी के तहत अपर नगर आयुक्त गिरिजा शंकर प्रसाद के निर्देश पर निगम की टीम ने औद्योगिक क्षेत्र की कंपनियों का निरीक्षण करना शुरू किया है. ताकि कंपनियों में डीप बोरिंग के साथ अन्य जलस्रोतों की भी जांच की जा सके.

इसी के तहत निगम की एक टीम ने जब क्षेत्र के हाईड्रोकिंप और इस्टर्न कोटिंग कंपनी का निरीक्षण किया तो डीप बोरिंग कराने में अनियमितताएं सामने आई. जांच टीम ने पाया कि नगर निगम ने इन कंपनियों को 4.5 इंच की बोरिंग की अनुमति दी थी, जबकि इन दोनों कंपनियों में तमाम नियमों को ताक पर रखकर 6.5 ब्यास का बोरिंग कर दिया गया है. इसी को लेकर अपर नगर आयुक्त के निर्देश पर इन दोनों कंपनियों को नाेटिस जारी किया गया है. फिलहाल मामले में दोनों कंपनियां नगरपालिका अधिनियम 2011 के तहत कार्रवाई के दायरे में आ रही हैं. दूसरी ओर निगम का यह अभियान आगे जारी रहने पर अन्य कुछ कंपनियों में भी इस तरह की कई अनियमितताएं आने की संभावना से इंकार नहीं किया जा रहा है.
आवासीय क्षेत्र में भी अनियमितता सामने आने पर होगी कार्रवाई
इधर, आदित्यपुर के आवासीय क्षेत्र में भी डीप बोरिंग कराने में बरती जानेवाली अनियमितता के मामले में निगम की टीम कार्रवाई की तैयारी में है. इसके लिए खासतौर पर विजिलेंस की टीम का गठन किया गया है, जो पता लगाने में जुटी है कि किन-किन इलाकों में किस-किस जगह नियमों को ताक पर रखकर डीप बोरिंग की गई है. उस टीम की रिपोर्ट के आधार पर नगर निगम की ओर से आगे की कार्रवाई की जायेगी.
विभिन्न वार्डों में टैंकर से जलापूर्ति की मांग भी हुई तेज
दूसरी ओर प्रचंड गर्मी में निगम क्षेत्र के कई वार्डों में पेयजल संकट गहराने लगा है. किसी वार्ड में बोरिंग फेल होने का मामला सामने आ रहा है तो कई वार्ड ऐसे भी हैं जहां एक भी डीप बोरिंग या चापाकल नहीं है. इस तरह के वार्ड में वार्ड संख्या-20 शामिल है. इस वार्ड के लोगों ने लोगों ने निगम के मेयर विनोद श्रीवास्तव से मुलाकात की. इस दौरान वार्ड में कम से कम हर सप्ताह में चार दिन टैंकर से जलापूर्ति की मांग की गई. मौके पर स्थानीय भाजपा नेता विशु महतो, धनंजय महतो समेत अन्य लोग मौजूद रहे.

ये भी पढ़ें- Jamshedpur crime : कदमा पुलिस ने 13 पुड़िया ब्राउन शुगर के साथ तीन को किया गिरफ्तार

Catalyst IAS
ram janam hospital

Related Articles

Back to top button