JharkhandKhas-KhabarRanchi

सीमेंट की कीमतें बढ़ने से रियल एस्टेट व्यवसाय पर पड़ सकता है मामूली असर

मंदी के दौर से गुजर रहा है रांची में रीयल इस्टेट व्यवसाय
पांच माह में सीमेंट की कीमतें बढ़ी हैं 70-80 रुपये प्रति बैग
Ranchi: सीमेंट की बढ़ी कीमतों का रीयल इस्टेट व्यवसाय पर मामूली असर पड़ा है. रीयल इस्टेट से जुड़े लोगों का कहना है कि राजधानी रांची में वैसे भी यह क्षेत्र मंदी के दौर से गुजर रहा है.
रीयल इस्टेट रेग्यूलेटरी ऑथोरिटी के आने से अब तक कोई सकारात्मक पहल यहां व्यवसाय पर पड़ता नहीं दिख रहा है. सीमेंट की कीमतें पांच माह में 80 रुपये प्रति बैग बढ़ी है.
इसको लेकर कंफेडरेशन ऑफ रीयल इस्टेट डेवलपर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (क्रेडाई) ने राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ी सीमेंट की कीमतों पर चिंता जतायी है.
क्रेडाई के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव चंद्रकांत रायपत का कहना है कि अपार्टमेंट की मांग और सप्लाई में काफी अंतर आ गया है.
मांग में कमी भी आयी है.
इसके अलावा रेरा के आने से नये बिल्डर अब कोई प्रोजेक्ट नहीं ला रहे हैं. उन्होंने कहा कि सीमेंट की कीमतें बढ़ने से अमूमन 50 रुपये प्रति वर्ग फीट की वृद्धि होगी.
यदि कोई एक हजार वर्ग फीट का अपार्टमेंट ले रहा है. यदि उसकी बुकिंग तीन हजार रुपये वर्ग फीट है, तो उसपर बढ़ी हुई दर के हिसाब से 50 हजार रुपये तक का अंतर आयेगा.
यानी उसे 35 सौ रुपये वर्ग फीट देने होंगे. उन्होंने कहा कि रांची में औसतन दो हजार से ढाई हजार फ्लैट प्रत्येक वर्ष बनते हैं. पर मांग लगातार कम हो रही है.
पंचरत्न डेवलपर्स के प्रतीक मोरे का कहना है कि सीमेंट की कीमतें बढ़ने का असर अस्थायी है. चार-पांच महीनों में सीमेंट की कीमतें 290 से 300 रुपये प्रति बैग तक आ जायेंगी.
ऐसे में अस्थायी तौर पर फ्लैट की कीमतें बढ़ाने का कोई औचित्य नजर नहीं आता है. एक बार बुकिंग होने पर खरीददार पर अनावश्यक दवाब भी डाला जाना बेहतर नहीं है.
उन्होंने कहा कि प्रत्येक वर्ग फीट पर सीमेंट की बढ़ी हुई कीमतों का नगण्य असर है. 25 से 50 रुपये तक की बढ़ोत्तरी की संभावनाएं जतायी जा रही है.
इसके लिए सभी बिल्डरों को एक मंच पर आकर निर्णय लेना होगा. उनके अनुसार सिर्फ सीमेंट ही नहीं कंस्ट्रक्शन में छड़, गिट्टी, बालू, ईंट भी लगता है. लेकिन छड़, गिट्टी और बालू की कीमतें नहीं बढ़ी हैं. सिर्फ सीमेंट की कीमतें बढ़ाये जाने से फौरी तौर पर कीमतें बढ़ाना लाजिमी नहीं है.
हिंदुस्तान टाईल्स से जुड़े पार्थो दा का कहना है कि फिलहाल कोई निर्णय नहीं लिया गया है. अभी सीमेंट की कीमतें पिछले तीन-चार महीने से उतार-चढ़ाव के दौर से गुजर रही हैं.
फ्लैटों की कीमतें बढ़ाने का निर्णय सामूहिक तौर पर लिया जाता है. इसके लिए जल्द ही क्रेडाई, बिल्डर एसोसिएशन ऑफ इंडिया और शहर के प्रतिष्ठित बिल्डरों की बैठक कर समुचित निर्णय लिया जायेगा.

इसे भी पढ़ेंःजम्मू-कश्मीर: कुलगामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों में मुठभेड़, दो दहशतगर्द ढेर

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close