lok sabha election 2019Main SliderNational

गठबंधन को खराब बताने वाली मोदी-शाह के NDA में 41 पार्टियां, जानें कौन-कौन दल हैं एनडीए में शामिल

News Wing Desk: लोकसभा चुनाव 2019 में एनडीए और यूपीए आमने-सामने है. चुनाव की घोषणा के साथ ही जहां विपक्ष एकजुट होता दिखा, वहीं बीजेपी ने इस गठबंधन को सत्ता प्रेरित बताया.

प्रधानमंत्री मोदी हो या बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह या फिर भाजपा के दूसरे नेता हर किसी ने विपक्ष के गठबंधन को लेकर सवाल उठाये. और गठबंधन वाली सरकार को कमजोर और विकास में बाधक सरकार करार दिया.

इसे भी पढ़ेंःसुरजेवाला ने कहा- जब कामकाज में निष्पक्ष नहीं आयोग तो कैसे कराएगा निष्पक्ष चुनाव 

advt

‘गठबंधन पर हमलावर रहे मोदी-शाह’

चुनावी रैलियों में पीएम मोदी खुद अक्सर इन गठबंधनों पर प्रहार करते दिखे. कभी इसे ‘ठगबंधन’ कहा तो कभी ‘महामिलावटी गठबंधन’. मोदी और बीजेपी को रोकने की खुलकर बात करने वाले महागठबंधन को बीजेपी ने अवसरवादी, सत्ता के भूखे जैसे संज्ञाओं से नवाजा.

गठबंधन की सरकार को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह हमेशा से हमलावर रहे हैं. कई बार सार्वजनिक मंच से कह चुके हैं कि गठबंधन की राजनीति ने देश को डुबाया है.

गठबंधन की सरकारें कमजोर होती हैं और सही समय पर फैसला नहीं ले पाती. 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को अकेले ही स्पष्ट बहुमत मिला था. जिसके बाद से नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने कई बार इस बात को दोहराया.

लेकिन जब भाजपा के नेतृत्व में बनी एनडीए को देखें, तो खुद यह यह देश का सबसे बड़ा गठबंधन है. इस बार एनडीए ही चुनाव भी लड़ रही थी. और अगर भाजपा को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला, तो एनडीए के 41 दल ही सरकार में शामिल होंगे. 21 मई को दिल्ली में हुई बैठक में एनडीए के 41 दल शामिल हुए थे.

adv

इसे भी पढ़ेंःजम्मू-कश्मीर: कुलगामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों में मुठभेड़, दो दहशतगर्द ढेर

हालांकि, पहले इस फेहरिस्त में 43 पॉलिटिक्ल पार्टियां शामिल थी. लेकिन चुनाव से पहले ही बिहार में सीट बंटवारे को लेकर नाराज हुए उपेंद्र कुशवाहा ने बीजेपी का साथ छोड़ दिया.

वहीं यूपी में ओम प्रकाश राजभर की सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी एनडीए खेमें को छोड़ चुकी है. उल्लेखनीय है कि यूपी सरकार में शामिल होते हुए भी पूर्व मंत्री राजभर अक्सर भाजपा के खिलाफ मुखर रहे.

वहीं लोकसभा चुनाव में उन्होंने बीजेपी के खिलाफ अपने प्रत्याशी भी उतारे थे, और बसपा प्रमुख मायावती के पीएम बनने की बात कही थी. चुनाव के बाद बीजेपी ने उनके खिलाफ एक्शन लिया. और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने राज्यपाल से राजभर को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की सिफारिश की थी. जिसके बाद उन्हें बर्खास्त कर दिया गया.

इसे भी पढ़ेंःISRO ने लॉन्च की RISAT-2बी, धरती पर रखेगा निगरानी, आतंकी नहीं कर पाएंगे घुसपैठ

एनडीए में शामिल राजनीतिक दल

संख्या राजनीतिक दल लोकसभा सांसदों की संख्या राज्यसभा सांसदों की संख्या राज्य
1. भारतीय जनता पार्टी 269 73 राष्ट्रीय पार्टी
2. एआईएडीएमके 37 13 तमिलनाडु
3. शिव सेना 18 3 महाराष्ट्र
4. जनता दल(यू) 2 6 बिहार
5. लोक जनशक्ति पार्टी 6 0 बिहार
6. शिरोमणि अकाली दल 4 3 पंजाब
7. अपना दल 2 0 उत्तर प्रदेश
8. पाट्टाली मक्कल कॉची 1 0 तमिलनाडु
9. सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट 1 1 सिक्किम
10. रिपब्लिक्न पार्टी ऑफ इंडिडा(ए) 0 1 महाराष्ट्र
11. बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट 0 1 असम
12. नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी 1 0 नागालैंड
13. ऑल इंडिया एन. आर. कांग्रेस 1 0 पुडुचेरी
14. राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी 0 0 राजस्थान
15. नेशनल पीपल्स पार्टी 0 0 मेघालय
16. मिजोरम नेशनल फ्रंट 0 0 मिजोरम
17. राष्ट्रीय समाज पक्क्षा 0 0 महाराष्ट्र
18. शिव संग्राम 0 0 महाराष्ट्र
19. महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी 0 0 गोवा
20. गोवा फॉरर्वड पार्टी 0 0 गोवा
21. आजसू 0 0 झारखंड
22. इनडिजिनस पीपुल्स फ्रंट 0 0 त्रिपुरा
23. मणिपुर पीपुल्स पार्टी 0 0 मणिपुर
24. कामतापुर पीपुल्स पार्टी 0 0 प. बंगाल
25. यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी 0 0 मेघालय
26. हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी 0 0 मेघालय
27. देसिया मृपोकु द्रविड़ कषगम 0 0 तमिलनाडु
28. भरत धर्म जन सेना 0 0 केरल
29. केरल कामराज कांग्रेस 0 0 केरल
30. प्रजा सोशलिस्ट पार्टी 0 0 केरल
31. डेमोक्रेटिक लेबर पार्टी (केरल) 0 0 केरल
32. तमिल मानिला कांग्रेस 0 0 तमिलनाडु
33. पुथिया तमिलगम 0 0 तमिलनाडु
34. केरल कांग्रेस (राष्ट्रवादी) 0 0 केरल
35. पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट 0 0 मेघालय
36. केरल कांग्रेस (थॉमस) 0 0 केरल
37. असोम गण परिषद 0 0 असम
38. निषाद पार्टी 0 0 यूपी
39. केरल जनपक्षम (धर्मनिरपेक्ष) 0 0 केरल
40. रैयत क्रांति संगठन 0 0 महाराष्ट्र
41. पुठिया नधि काछी 0 0 तमिलनाडु

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button