न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीबीआई रिश्वत मामला: कस्टडी में CBI डीएसपी, स्पेशल डायरेक्टर को मिली अंतरिम राहत

72

New Delhi: सीबीआई रिश्वत मामले में मंगलवार को हाईकोर्ट और निचली अदालत ने दो बड़े फैसले सुनाये. मामले में सुनवाई करते हुए सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के मामले में हाई कोर्ट ने अस्थाना को फिलहाल अंतरिम राहत दी. वहीं दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने सीबीआई के डीएसपी देवेंद्र कुमार को 7 दिन की सीबीआई कस्टडी में भेजने का आदेश दिया. सीबीआई का कहना है कि उन्हें आरोपी अधिकारी देवेंद्र कुमार के घर और ऑफिस में छापेमारी के दौरान कुछ अहम दस्तावेज और सबूत हाथ लगे हैं. इसी के आधार पर सीबीआई ने कोर्ट में देवेंद्र कुमार की कस्टडी देने की मांग की थी. सीबीआई की अपील पर दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने देवेंद्र कुमार की कस्टडी 7 दिनों के लिए सीबीआई को देने का आदेश दिया है.

इसे भी पढ़ें : बकोरिया कांड पर बोले मंत्री सरयू रायः सीबीआई जांच से सामने आयेगा सच

क्या  है हाईकोर्ट का आदेश

हाई कोर्ट ने मामले के अगली सुनवाई के लिए 29 अक्टूबर की तारीख तय की है. कोर्ट ने कहा है कि 29 अक्टूबर को सीबीआई डायरेक्टर द्वारा राकेश अस्थाना पर लगाये गये आरोपों पर जवाब देंगे. कोर्ट तब इस मामले में अस्थाना की गिरफ्तारी पर भी रोक लगा दी है और मामले में यथास्थिति बनाए रखने के लिए कहा है. कोर्ट ने तब तक आरोपी के मोबाइल और लैपटॉप समेत सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जब्त करने को कहा है. इससे पहले सीबीआई के वकील ने कोर्ट में कहा कि आरोपी के खिलाफ रिश्वत लेने समेत कई गंभीर मामले हैं. आपराधिक षड्यंत्र के साथ भ्रष्टाचार के मामले भी हैं. वहीं राकेश अस्थाना के वकील ने कोर्ट से अस्थाना के खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर को रद्द करने की मांग की थी. कोर्ट ने अस्थाना की याचिका को खारिज कर दिया है. घूसखोरी के मामले में अस्थाना ने हाईकोर्ट से अपने खिलाफ कोई बलपूर्वक कार्रवाई ना करने का निर्देश दिए जाने की भी मांग की थी.

बता दें कि रविवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने अपने विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ इस आरोप को लेकर मामला दर्ज किया था. दरअसल मांस कारोबारी मोईन कुरैशी से जुड़े एक मामले में जिस एक आरोपी के विरुद्ध अस्थाना जांच कर रहे थे. उससे शक गहरा रहा था. राकेश अस्थाना पर इस मामले में रिश्वत लेने का आरोप है.

इसे भी पढ़ें- ‘गांव’ फिल्म का अंतर्राष्ट्रीय लोकार्पण 26 अक्टूबर को, इटखोरी से प्रेरित है कहानी

palamu_12

अस्थाना ने कैबिनेट सचिव को वर्मा के खिलाफ लिखा था पत्र

मीडिया की खबरों की मुताबिक अस्थाना ने 24 अगस्त को कैबिनेट सचिव को एक पत्र लिखकर वर्मा के खिलाफ कथित भ्रष्टाचार के 10 मामले की जानकारी दी थी. इसी पत्र में यह भी आरोप लगाया गया था कि साना ने इस मामले में क्लीनिचट पाने के लिए सीबीआई प्रमुख को दो करोड़ रुपए दिए. खबरों के मुताबिक अनुसार यह शिकायत केंद्रीय सतर्कता आयोग के पास भेजी गई जो इस मामले की जांच कर रहा है.

कौन हैं राकेश अस्थाना

गुजरात कैडर के आईपीएस अधिकारी अस्थाना उस विशेष जांच दल (एसआईटी) की अगुवाई कर रहे हैं जो अगस्तावेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले और उद्योगपति विजय माल्या द्वारा की गयी ऋण धोखाधड़ी जैसे अहम मामलों को देख रहा है. यह दल मोईन कुरैशी मामले की भी जांच कर रहा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: