NationalWorld

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट : भयभीत न हों… करेंसी  नोटों के जरिए कोरोना वायरस फैलने का खतरा बेहद कम…

नोटों की सतह पर वायरस का असर एक घंटे के बाद तेजी से कम होने लगता है..

London : क्या करेंसी यानी नोटों के जरिए भी कोरोना (Covid-19) फैलने का ख़तरा है? इस संबध में वैज्ञानिकों की मानें तो नोटों के जरिए कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका बेहद कम है. ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के अनुसार करेंसी  नोटों के उपयोग से कोरोनो वायरस फैलने का खतरा बहुत कम होता है. बैंक ऑफ इंग्लैंड के एक अध्ययन में सामने आया है कि करेंसी नोटों के माध्यम से वायरल संक्रमण के फैलने का जोखिम बेहद कम है.

इसे भी पढ़े : बिहार : सुशील मोदी का सनसनीखेज आरोप, लालू राजग विधायकों को मंत्री पद का लालच दे सरकार गिराने के प्रयास में

संक्रमित व्यक्ति नोट पर खांस या छींक सकता है.

बैंक के अनुसार कोई संक्रमित व्यक्ति नोट पर खांस या छींक सकता है. अध्ययन के अनुसार  नोटों की सतह पर वायरस का असर एक घंटे के बाद तेजी से कम होने लगता है. छह घंटे के बाद यह 5 प्रतिशत या उससे भी कम हो जाता है।.

शोधकर्ताओं ने यह भी पाया कि इस तरह के संक्रमण की संभावना अपेक्षाकृत कम है क्योंकि नोटों को आमतौर पर पर्स में सुरक्षित रूप से रखा जाता है. अध्ययन में पाया गया है कि एक संक्रमित व्यक्ति के नोटों को छूने की संभावना बेहद कम होगी. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि नोटों पर सार्स-कोव-2 का अस्तित्व अन्य सतह क्षेत्रों की तुलना में कम दिखाई देता है जहां लोग नियमित रूप से संपर्क में आते हैं .

इसे भी पढ़े : कांग्रेस  के दिग्गज नेता अहमद पटेल नहीं रहे, पीएम मोदी ने शोक व्यक्त किया…

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: