GiridihJharkhand

#Giridih में Corona का एक और संदिग्ध मिला, आइसोलेशन वार्ड से भाग निकला

Giridih: गिरिडीह में कोरोना वायरस का एक और संदिग्ध मरीज मिला है. उसे तत्काल आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया लेकिन वहां से वह भाग निकला. अब पुलिस से ढूंढ़ रही है.

सोमवार को ही बिहार के पूर्णिया से आये 26 वर्षीय छात्र जीतेन्द्र वर्मा को सदर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था.

छात्र को खुद भी संदेह था कि वह कोरोना से ग्रसित है. संदेह के आधार पर ही उसे अस्पताल की पहली मंजिल में बनाये गये आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया जहां अस्पताल के चिकित्सकों के निगरानी में रखा गया था.

Catalyst IAS
ram janam hospital

सिविल सर्जन डॉ अवधेश सिन्हा की मानें तो जिस छात्र को नोवेल कोरोना के संदेह में भर्ती किया गया था उसे करीब दस दिनों से खांसी होने के साथ गले में दर्द भी है. उसके भागने की सूचना सीआइडी को दी गयी है.

The Royal’s
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें : #Jharkhand : दो माह में बनाने थे साढ़े तीन लाख शौचालय, डेढ़ महीने में बने मात्र 11 हजार

ब्लड सैंपल जांच के लिए भेजने की तैयारी

वैसे छात्र को कोरोना है या नहीं, इसके लिए छात्र के ब्लड का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजने की तैयारी चल रही थी. इसी बीच वह भाग निकला.

दिलचस्प बात यह भी रही कि जिस वक्त छात्र को भर्ती किया गया उस वक्त एहतियातन सीएस समेत स्वास्थ्य कर्मियों ने भी मॉस्क पहन कर भर्ती किया.

लेकिन अस्पताल का चिकित्सक डॉ महर्षि ने बगैर किसी मास्क के उसकी स्वास्थ की जांच की. कोरोना का संदिग्ध मरीज शहर के सुभाष प्रौद्योगिकी शिक्षण संस्थान के फर्स्ट ईयर का छात्र बताया जा रहा है.

छात्र को लेकर संस्थान के उपनिदेशक विजय सिंह खुद सदर अस्पताल पहुंचे थे.

बताते चलें कि एक सप्ताह के भीतर इस जानलेवा बीमारी कोरोना का यह दूसरा केस है. पहले केस में संदेह होने पर ही देवरी के एक मरीज को रिम्स रेफर कर दिया गया था.

इसे भी पढ़ें : दूरदर्शन के तत्कालीन उप निदेशक शैलेश पंडित को सीबीआइ कोर्ट ने सुनायी 4 साल की सजा

कोरोना का खौफ: खांस रहे युवक को अस्पताल भेजा, युवक रास्ते से ही भाग निकला

इधर जिस प्रकार का दहशत कोरोना को लेकर दिख रहा है वह खुद में भी हैरान करने वाला है क्योंकि कोरोना को लेकर ही एक अजीबो-गरीब वाक्या हुआ है.

जानकारी के अनुसार शहर के भंडारीडीह स्थित एक सैलून दुकान में अचानक एक युवक सैंविग कराने पहुंचा, सैंविग कराने पहुंचा युवक काफी जोर-जोर से खांस रहा था.

इस दौरान सैलून में पहले से मौजूद ग्राहकों को जब युवक के खांसने पर हैरानी हुई, तो युवक ने वहां मौजूद लोगों द्वारा जानकारी लेने के क्रम में बताया कि उसे करीब पांच दिनों से खांसी हो रही है.

यही नहीं, कई बार दवा ले चुका है लेकिन खांसी ठीक नहीं हो रही है. युवक का यह भी कहना था कि उसके परिवार के कुछ सदस्य धनबाद में इलाज के लिए भर्ती हैं.

युवक के इतना बताने के साथ सैलून में मौजूद ग्राहक सबसे पहले बाहर निकल गये. इसके बाद युवक को एक टो-टो में बिठाकर अस्पताल पहुंचने को कहा.

इस बीच कुछ ग्राहक भी उसे अस्पताल पहुंचाने के लिए उसके पीछे-पीछे बाइक से गये. लेकिन भीड़ का फायदा उठाकर युवक बीच रास्ते से ही भाग निकला. इस दौरान लोगों ने युवक को काफी तलाशा लेकिन युवक कहीं नहीं मिला.

इधर सैलून के इन ग्राहकों का कहना था कि युवक के शरीर के कुछ हिस्सों में जख्म भी थे.

इसे भी पढ़ें : #IndiaFightsCorona: झारखंड के सभी स्कूल-कॉलेज, सिनेमा हॉल, क्लब व पार्क 14 अप्रैल तक बंद किये गये

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button