West Bengal

 अमित शाह के तेवर ममता पर तल्ख, कहा, बंगाल की भूमि पर तुष्टिकरण की राजनीति चल रही है…

मैं कई बार दक्षिणेश्वर आया हूं और यहां से ऊर्जा प्राप्त कर वापस गया हूं. आज इस भूमि पर तुष्टिकरण की राजनीति चल रही है इससे बंगाल की महान परंपरा आहत हुई है.

Kolkata : मैं कई बार दक्षिणेश्वर आया हूं और यहां से ऊर्जा प्राप्त कर वापस गया हूं. आज इस भूमि पर तुष्टिकरण की राजनीति चल रही है इससे बंगाल की महान परंपरा आहत हुई है. मेरी मां काली से यही प्रार्थना है कि मोदी के नेतृत्व में ये देश फिर से एक बार दुनिया में गौरवमयी स्थान प्राप्त करे. गृह मंत्री अमित शाह ने आज यह प्रार्थना कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर का पूजा के दौरान की.

बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के पश्चिम बंगाल दौरे का आज दूसरा दिन है. बताया जा रहा है कि अमित शाह आज भारतीय जनता पार्टी के बंगाल इकाई के साथ संगठनात्मक बैठक करेंगे. इसी क्रम में अपने बंगाल दौरे के दूसरे दिन सबसे पहले अमित शाह ने आज सुबह दक्षिणेश्वर मंदिर में पूजा की.

इसे भी पढ़ें : अभी जेल में ही रहेंगे लालू, जमानत पर सुनवाई 27 तक टली

अमित शाह का राज्य में  294 सीटों में से  200 सीटें जीतने  का लक्ष्य

पश्चिम बंगाल में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले राज्य में सियासी गतिविधियां बढ़ गयी हैं    अमित शाह ने राज्य में कुल 294 सीटों में से पार्टी के लिए 200 सीटें जीतने तथा राज्य में सत्ता में आने का लक्ष्य निर्धारित किया है.  उन्होंने गुरुवार को कहा कि वह पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ भारी रोष को महसूस कर रहे हैं और इस सरकार के पतन की शुरुआत हो चुकी है. अमित शाह ने लोगों का आह्वान किया कि ‘सोनार बांग्ला’ के सपने को मूर्त रूप देने के लिए भाजपा को अगली सरकार बनाने का मौका दें.

इसे भी पढ़ें : यात्रीगण कृपया ध्यान दें, 8 और 9 नवंबर को रांची से मोतिहारी और सहरसा के लिए चलेगी स्पेशल ट्रेन

पश्चिम बंगाल सीमावर्ती राज्य है और देश की सुरक्षा इससे जुड़ी हुई है

इससे पूर्व अमित शाह वर्ष 2021 में राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पार्टी संगठन की तैयारियों का जायजा लेने के लिए बुधवार रात को कोलकाता पहुंचे.  उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल सीमावर्ती राज्य है और देश की सुरक्षा इससे जुड़ी हुई है. बांकुड़ा के एक दिवसीय दौरे पर आए शाह के साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय भी मौजूद थे।.

जान लें कि बांकुड़ा आदिवासी और पिछड़े समुदाय की आबादी वाला जिला है और यह उन जिलों में शामिल है जहां पर भाजपा ने वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में अपनी गहरी पैठ बनाई.   सूत्रों के मुताबिक, पार्टी संगठन का जायजा लेने बांकुड़ा का दौरा करने वाले शाह ने भाजपा कार्यकर्ताओं से कठिन परिश्रम करने का संकल्प लेने का आह्वान किया ताकि इस लक्ष्य को हासिल किया जा सके.

इसे भी पढ़ें : सीएम का नेशनल मेडिकल काउंसिल को पत्र, दुमका, पलामू व हजारीबाग के मेडिकल कॉलेजों में नये छात्रों के प्रवेश पर रोक हटाने का अनुरोध

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: