Education & CareerJharkhandRanchi

सीएम का नेशनल मेडिकल काउंसिल को पत्र, दुमका, पलामू व हजारीबाग के मेडिकल कॉलेजों में नये छात्रों के प्रवेश पर रोक हटाने का अनुरोध

कॉउन्सिल से अनुरोध किया है कि नये नामांकन नहीं लेने के निर्णय के संबंध में पुनर्विचार करे, ताकि राज्य के योग्य छात्रों के भविष्य की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके

Ranchi : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने नेशनल मेडिकल काउंसिल अध्यक्ष डॉ सुरेश चंद्र शर्मा को दुमका, हजारीबाग और पलामू मेडिकल कॉलेजों में मेडिकल छात्रों के नये प्रवेश को नहीं रोकने के लिए पत्र लिखा है. मुख्यमंत्री ने पत्र के माध्यम से कॉउन्सिल से अनुरोध किया है कि नये नामांकन नहीं लेने के निर्णय के संबंध में पुनर्विचार करे, ताकि राज्य के योग्य छात्रों के भविष्य की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके.

इसे भी पढ़ें : अभी जेल में ही रहेंगे लालू, जमानत पर सुनवाई 27 तक टली

advt

शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए नामांकन प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है

बता दें कि एनईईटी (नीट) द्वारा परीक्षाफल प्रकाशित होने के उपरांत शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए नामांकन प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है. लेकिन नेशनल मेडिकल काउंसिल द्वारा झारखंड के दुमका, पलामू और हजारीबाग में नवनिर्मित मेडिकल कॉलेज में कॉउन्सिल द्वारा आधारभूत संरचना और फैकल्टी की कमी बता कर नये नामांकन नहीं लेने का आदेश जारी किया गया है.

इसे भी पढ़ें :  धान क्रय केंद्र से किसानों का मोहभंग, एक लाख, 39 हजार रजिस्टर्ड किसानों में 86,402 धान क्रय क्रेंद्र नहीं पहुंचे

गरीब छात्रों, जनजाति और पिछड़ा राज्य को देखते हुए पुनर्विचार करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से नवनिर्मित कॉलेज में आधारभूत संरचना समेत कुछ कार्य होने शेष हैं. लेकिन राज्य सरकार मेडिकल कॉलेज की जरूरतों और कॉउन्सिल के नॉर्म्स को पूरा करने के लिए पूरी तरह से जागरूक और प्रतिबद्ध है, जिससे आदिवासी बहुल इस राज्य के छात्रों की उम्मीद व्यर्थ न जाये.
एनएमसी चेयरमैन को लिखे पत्र में मुख्यमंत्री ने कहा है कि राज्य के गरीब छात्रों जनजाति और पिछड़ा राज्य को देखते हुए वे अपने फैसले पर पुनर्विचार करें, और नए दाखिले की अनुमति प्रदान करें.

सीएम ने एनएमसी द्वारा जिन आपत्तियों को उठाया है उसे 30 नवंबर तक पूरा करने का वादा भी उन्होंने किया है. सीएम का कहना है कि तीनों मेडिकल कॉलेज के लिए केंद्र सरकार ने 340 करोड रुपए दिए थे, वहीं राज्य सरकार ने भी 392.88 करोड रुपए अपने हिस्से का दिया है. भवन निर्माण कार्य पूरा हो चुका है.

इसे भी पढ़ें : पलामू: चार पूर्व विधायकों सहित 29 के पास तीन-तीन हथियार, 13 दिसंबर तक एक-एक हथियार सरेंडर का आदेश

प्रधानमंत्री ने इन तीनों मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन किया था

प्रधानमंत्री ने इन तीनों मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन किया था. प्रत्येक कॉलेज में 100-100 सीट पर दाखिले की प्रक्रिया वर्ष 2019-20 में हुई थी. अब जब नीट का रिजल्ट 2020-21 के लिए जारी हो गया है और दाखिले की प्रक्रिया हुई है, लेकिन कुछ आधारभूत संरचना के आधार बताते हुए दाखिले पर रोक लगा दी गयी है. इससे राज्य के गरीब छात्रों को झटका लगा है.

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: