न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कैबिनेट से मंजूरी के 6 महीने बाद CM ने लगायी पुलिसकर्मियों के 13 महीने के वेतन पर मुहर

27,521

Ranchi : कैबिनेट से मंजूरी मिलने के 6 महीने के बाद रघुवर सरकार ने राज्य के 70,000 से अधिक पुलिसकर्मियों को 13 महीने का वेतन देने पर मुहर लगा दी है. शुक्रवार को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इस पर मुहर लगायी.

इसे भी पढ़ें : #NewTrafficFine : देखिये VIDEO, फाइन वसूलने के बहाने पुलिस कर रही अपराधियों जैसा सलूक

Aqua Spa Salon 5/02/2020

मार्च में मिली थी कैबिनेट की मंजूरी

बता दें कि 6 मार्च 2019 को हुई कैबिनेट की बैठक में झारखंड पुलिसकर्मियों को 13 महीने का वेतन दिये जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गयी थी. 13वें महीने के वेतन को लागू करने के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमिटी बनायी गयी है, जो एक महीने में अपनी रिपोर्ट देगी.
सहमति बनने के बाद हड़ताल स्थगित कर दी गयी थी

25 फरवरी 2019 को मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी की अध्यक्षता में झारखंड पुलिस मेंस एसोसिएशन, झारखंड पुलिस एसोसिएशन और चतुर्थवर्गीय कर्मचारी संघ की सात सूत्री मांग को लेकर बैठक की गयी थी. तीनों संघ की सात सूत्री मांगों पर इस बैठक में बिंदुवार विमर्श किया गया था और सभी 7 सूत्री मांगों को लेकर सहमति बनी थी.

बैठक में सरकार से सहमति बनने के बाद तीनों संघों के पदाधिकारियों ने 28 फरवरी से शुरू होने वाले पांच दिवसीय सामूहिक अवकाश आंदोलन को टाल दिया था.

इसे भी पढ़ें : 19 सालों से #JMM आदिवासियों पर कर रहा Emotional अत्याचार : सालखन मुर्मू

पुलिसकर्मियों में खुशी की लहर

मुख्यमंत्री के द्वारा तेरे महीने के वेतन पर मुहर लगाने के बाद पुलिसकर्मियों में खुशी की लहर है. कुछ पुलिसकर्मियों से बात करने पर बताया कि पुलिस मेंस एसोसिएशन के उपाध्यक्ष राकेश पांडे के द्वारा गृह मंत्री को 13 महीने वेतन दिये जाने संबंधी पत्र लिखे जाने के बाद मुख्यमंत्री के द्वारा इस तरह का कदम उठाया गया जो कि प्रशंसनीय है.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

वहीं पुलिस मेंस एसोसिएशन के उपाध्यक्ष राकेश पांडे ने कहा कि मुख्यमंत्री के द्वारा 13 महीने के वेतन पर मुहर लगाने के लिए डीजीपी और मुख्यमंत्री बधाई के पात्र हैं.

इसे भी पढ़ें : #EconomyRecession जल्द खत्म हो सकती है ऑटो सेक्टर के विकास की कहानी: टाटा मोटर्स

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like