HazaribaghJharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

”50,000 करोड़ का प्रोजेक्ट है … 1000-2000 करोड़ नहीं कमाएंगे क्या?….अपना पार्टी बनाना है… 1-2 करोड़ में ही फुसल जायेंगे क्या ! ये किसकी आवाज है ?

वायरल ऑडियो से एक बार फिर झारखंड की राजनीति में हलचल,कोयला खनन क्षेत्र की परियोजना से जोड़ा जा रहा है यह ऑडियो

Ranchi :  “पूरा 50,000 करोड़ रुपये का प्रोजेक्ट है… तो “…..”,  हम 1,000 – 2,000  करोड़ रुपये नहीं कमायेंगे क्या., “…..” हम अपना पार्टी बनाना चाहते हैं… इनलोग देगा केवल 1 या 2 करोड़ रुपये, तो उसी में हम फुसला जायें.”. ये वाक्य एक ऑडियो क्लिप का हिस्सा हैं,  जो आज वायरल हुआ है. चर्चा हो रही है कि यह ऑडियो झारखंड के एक पूर्व मंत्री का है. न्यूजविंग इस ऑडियो की सत्यता और किसी संदर्भ की पुष्टि नहीं करता है. बीते वर्ष 25 दिसम्बर को भी इसी ऑडियो से मिलती-जुलती आवाज वाला एक क्लिप वायरल हुआ था. चर्चा के मुताबिक यह ऑडियो पहले वायरल हुए क्लिप की ही कड़ी है.

सुनें वायरल आडियो :

किस प्रोजेक्ट की बात हो रही है ऑडियो में?

ऑडियो क्लिप से यह जाहिर होता है कि किसी प्रोजेक्ट के बारे में बात हो रही है, जो लगभग पचास हजार करोड़ रुपये का है. जिस व्यक्ति की आवाज है, वह इस प्रोजेक्ट से हजार-दो हजार करोड़ रुपये की कमाई करना चाहते हैं, क्योंकि उन्हें अपनी पार्टी बनानी है. क्लिप सुनने से ऐसा लगता है कि वह किसी व्यक्ति से फोन पर बात कर रहे हैं. फोन पर दूसरी तरफ कौन व्यक्ति है, यह स्पष्ट नहीं है और उसकी आवाज का कोई अंश भी इस क्लिप में नहीं है. ऑडियो में जिनकी आवाज सुनाई पड़ रही है, उसका आशय यह है कि हजार, दो हजार करोड़ कमाने के बदले वह एक या दो करोड़ रुपये से बहल नहीं सकते.

इसे भी पढ़ें :झारखंड में इन्हें लगाया गया सबसे पहले टीका, जानिये कैसा रहा इनका अनुभव

क्या यह उन्हीं की आवाज है, जिनसे हाल में हुई पूछताछ !

बता दें कि हाल में केंद्रीय स्तर की एक जांच एजेंसी ने जेल में बंद एक पूर्व मंत्री से पूछताछ की थी. क्या यह वायरल ऑडियो भी उन्हीं का है? बता दें कि इसके पहले जो ऑडियो वायरल हुआ था, उसमें  एक व्यक्ति कह रहा है कि टीपीसी ने मगध-आम्रपाली कोल परियोजना में काम बंद कराने में तन-मन और धन से उनका सहयोग किया और फंडिंग भी की. साथ ही मंत्री बनाने के लिए 2 से 5 करोड़ देने के लिए भी टीपीसी के लोग तैयार हैं. ताजा और पुराने वायरल ऑडियो क्लिपिंग को सुनने से यही लगता है कि दोनों एक ही व्यक्ति की आवाज है.

इसे भी पढ़ें :महेंद्र सिंह की शहादत दिवस पर विशेष : यहां के हम ही हैं सरकार

एक पूर्व मंत्री पहले भी रहे हैं आरोपों के घेरे में

जेल में बंद एक पूर्व मंत्री पर कथित तौर पर पहले से आरोप लगता है कि आंदोलन के नाम पर वे कंपनियों से ठेकेदारी व लेवी वसूलते रहे है. ताजा वायरल वीडियो को भी इसी कड़ी से जोड़ा जा रहा है. आपको बता दें कि कुछ दिन पहले सत्तारूढ़ दल के एक अन्य घटक दल के जिला अध्यक्ष ने आरोप लगाया था कि बड़कागांव से कोयला खनन कर रही एक कंपनी से तीन करोड़ रुपए लेकर कंपनी को परेशान नहीं करने का समझौता हुआ है. चर्चा है कि यह ऑडियो क्लिप भी उसी प्रकरण से जुड़ा है.

इसे भी पढ़ें :दिल्ली के जेवर शोरूम कर्मी की हत्या कर 86 लाख के गहने लूट कर भाग रहे दो अपराधी कालका-हावड़ा मेल में धराये

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: