न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

1990 बैच के आईपीएस अनुराग गुप्ता बने सीआईडी के एडीजी

334

Ranchi : 1990 बैच के आईपीएस अनुराग गुप्ता को सीआइडी झारखंड का नया एडीजी बनाया गया है. अनुराग गुप्ता नई दिल्ली स्थित झारखंड के स्थानिक आयुक्त कार्यालय में पदस्थापन के लिए  प्रतीक्षा में थे. सीआइडी के एडीजी का पद फिलहाल प्रभार में चल रहा है.

mi banner add

विशेष शाखा के एडीजी अजय कुमार सिंह के पास ही सीआइडी के एडीजी का प्रभार है. चुनाव कार्य से दूर रहने के निर्वाचन आयोग के निर्देश की वजह से अनुराग गुप्ता रांची से बाहर थे.

इसे भी पढ़ें –  Police Housing Colony: DGP डीके पांडे की पत्नी ने पहले करायी फर्जी तरीके से जमीन की रजिस्ट्री फिर…

चुनाव आयोग के निर्देश पर दिल्ली भेजे गए थे अनुराग गुप्ता

गौरतलब है कि कांग्रेस की शिकायत पर चुनाव आयोग ने संज्ञान लेते हुए झारखंड के एडीजी अनुराग गुप्‍ता को दिल्‍ली अटैच कर दिया गया था. कांग्रेस ने चुनाव आयोग से एडीजी के खिलाफ शिकायत की थी.

कांग्रेस नेता चुनाव आयोग के कार्यालय पहुंचे थे और चुनाव आयोग से मिलकर उन्हें चुनाव कार्य से बाहर रखने की मांग की थी. कांग्रेस ने 2016 में राज्यसभा चुनाव के दौरान झारखंड के एक विधायक को पार्टी विशेष को मदद पहुंचाने के आरोप का हवाला दिया था.

दरअसल अनुराग गुप्ता पर लगे आरोपों का हवाला देते हुए विपक्ष ने भारत निर्वाचन आयोग से शिकायत कर एडीजी को उनके पद से हटाने का आग्रह किया था. शिकायत करनेवालों में पूर्व केंद्रीय मंत्री सह प्रदेश कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह, कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी आदि नेता शामिल थे.

झारखंड मुक्ति मोर्चा ने भी चुनाव आयोग से शिकायत की थी कि भयमुक्त व निष्पक्ष चुनाव के लिए राज्य के डीजीपी डीके पांडेय व एडीजी अनुराग गुप्ता को हटाना बेहद जरूरी है. झामुमो के अनुसार, दोनों ही पदाधिकारी तीन साल से अधिक समय से एक ही पद पर काबिज हैं.

एडीजी अनुराग गुप्ता ने हाइकोर्ट में दायर की थी याचिका

Related Posts

जिन स्कूलों को सरकार ने बंद किया, सत्ता में आए तो उन्हें फिर खोलेंगे : हेमंत

हेमंत ने पहले 100 दिनों में 6 बिंदुओं को प्रमुखता से लागू करने की कही बात

चुनाव आयोग के आदेश को निरस्त कराने के लिए एडीजी अनुराग गुप्ता ने हाइकोर्ट में याचिका दायर की थी. एडीजी की ओर से दायर याचिका में कहा गया था कि राज्य से बाहर दिल्ली के स्थानिक आयुक्त कार्यालय में योगदान देने और लोकसभा चुनाव तक झारखंड में छुट्टी लेकर या किसी और वजह से आने पर चुनाव आयोग ने रोक लगायी है.

इसे निरस्त किया जाये. याचिका पर 12 अप्रैल 2019 को झारखंड हाइकोर्ट के जस्टिस आनंद सेन की अदालत में सुनवाई हुई थी.

इसे भी पढ़ें – हाल ए सीएम का बिजली विभाग : चार साल में 19606 करोड़ बजट, बिजली खरीद,रिपेयर और मेंटेनेंस में ही खर्च…

निर्वाचन आयोग को जवाब दाखिल करने का दिया था निर्देश

अदालत ने मामले में निर्वाचन आयोग को जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया था. साथ ही पूछा कि किस आधार पर प्रार्थी को लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया पूरी होने तक राज्य से बाहर रहने का आदेश दिया गया है.

एडीजी अनुराग गुप्ता को चुनाव प्रक्रिया समाप्त होने तक झारखंड से बाहर रखने के आयोग के आदेश पर झारखंड हाईकोर्ट ने 3 मई को फैसला सुनाया था.

कोर्ट ने अनुराग गुप्ता की याचिका को खारिज कर दिया था. लेकिन उन्हें राहत देते हुए आयोग को निर्देश दिया था कि वह अपने आदेश में सुधार करे. श्री गुप्ता अगर छुट्टी का आवेदन देते हैं और सरकार उनकी छुट्टी मंजूर करती है, तो वह छुट्टी लेकर झारखंड आ सकते हैं.

इसे भी पढ़ें – दर्द ए पारा शिक्षक: साढ़े चार बजे सुबह उठ कर लाह, महुआ, करंज और इमली चुनते हैं राजू लकड़ा

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: