न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लगाये गए 18 करोड़ पौधे, 7 जिलों में एक ईंच नहीं बढ़े जंगल

हर साल लगाये जाते हैं दो करोड़ से अधिक पौधे, वन विभाग ने माना मर जाते हैं 30 से 40 फीसदी पौधे

1,286

Ranchi: झारखंड राज्य गठन के बाद से अब तक फॉरेस्ट डिपार्टमेंट 18 करोड़ से अधिक पौधे लगा चुका है. लेकिन, सात जिलों में एक ईंच भी वन क्षेत्र में वृद्धि नहीं हो पाई है. यह वृद्धि माइनस में चली गई है. इसके बावजूद वन विभाग का दावा है कि 947 वर्गकिलोमीटर वन क्षेत्र में वृद्धि हुई है. विभाग ने यह भी माना है कि पौधे लगाने के बाद 30 से 40 फीसदी पौधे मर जाते हैं. हर साल दो करोड़ से अधिक पौधे लगाये जाते हैं. इस साल 2.69 करोड़ पौधे लगाये गये हैं.

इसे भी पढ़ें: कई IAS जांच के घेरे में, प्रधान सचिव रैंक के अफसर आलोक गोयल की रिपोर्ट केंद्र को भेजी, चल रही विभागीय कार्रवाई

अफसर तो बढ़ गये, घट गये जंगल

hosp3

एकीकृत बिहार के समय प्रधान मुख्य वन संरक्षक का एक ही पद था. राज्य गठन के बाद झारखंड में प्रधान मुख्य वन संरक्षक के चार पद हो गये हैं. वहीं नये कैडर रिव्यू के अनुसार राज्य में आइएफएस के पदों की संख्या 142 है. नौ अपर प्रधान मुख्य संरक्षक रैंक के अफसर हैं. 15 मुख्य वन संरक्षक, 21 वन संरक्षक और 39 उप वन संरक्षक हैं. इसके अलावा सहायक वन संरक्षक के 156, क्षेत्रीय वन पदाधिकारी के 383 पद है.

इसे भी पढ़ें: वन विभाग के पास पेड़ काटने और नये पेड़ लगाने की सूचना नहीं 

सात जिलों के जंगल क्षेत्र में वृद्धि नहीं

देहरादून फॉरेस्ट इंस्टीट्यूट की सर्वे रिपोर्ट के अनुसार सात जिलों में एक ईंच वन क्षेत्र में वृद्धि नहीं हुई है. बोकारो, धनबाद, कोडरमा और लोहरदगा में एक फीसदी की भी वृद्धि नहीं हुई है. वहीं, राजधानी रांची में सबसे अधिक आठ फीसदी वनक्षेत्र में की कमी आई है. दुमका में तीन, पाकुड़ में एक और पश्चिमी सिंहभूम में दो फीसदी की कमी आई है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: