न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

फॉर्च्यून ग्लोबल 500 सूची में वॉलमार्ट नंबर वन,  रिलायंस इंडस्ट्रीज  भारतीय कंपनियों में पहले स्थान पर

फॉर्च्यून 500 सूची में अमेरिका की दिग्गज कंपनी वॉलमार्ट  पहले स्थान पर है,  चीन की सरकारी तेल एवं गैस कंपनी सिनोपेक ग्रुप ृ दूसरे पायदान पर है,

53

Mumbai : फॉर्च्यून ग्लोबल 500 सूची में मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज 42 स्थानों की छलांग लगाते हुए भारत की सबसे ऊंची रैंकिंग वाली कंपनी बन गयी है.  इससे पूर्व सार्वजनिक क्षेत्र की इंडियन आयल कॉरपोरेशन (आईओसी) फॉर्च्यून 500 इंडिया सूची में पहले स्थान पर थी.  जान लें कि  पहली बार यह सूची 2010 में जारी हुई थी. फॉर्च्यून 500 सूची में अमेरिका की दिग्गज कंपनी वॉलमार्ट  पहले स्थान पर है,  चीन की सरकारी तेल एवं गैस कंपनी सिनोपेक ग्रुप एक स्थान की छलांग के साथ दूसरे पायदान पर,  नीदरलैंड की कंपनी डच शेल तीसरे और चाइना नेशनल पेट्रोलियम ऐंड स्टेट ग्रिड चौथे स्थान पर है.  सऊदी अरब की पेट्रोलियम क्षेत्र की दिग्गज सऊदी अरामको पहले बार शीर्ष दस में पहुंची है.  यह छठे स्थान पर है. बीपी, एक्सॉन मोबिल, फॉक्सवैगन और टोयोटा मोटर क्रमश: सातवें, आठवें, नौवें और दसवें स्थान पर हैं.

मणिरत्नम, अनुराग कश्यप समेत 49 फिल्मी हस्तियों ने पीएम को लिखी चिट्ठी, कहा- रोकी जाये मॉब लिंचिंग

Trade Friends

रिलायंस इंडस्ट्रीज ग्लोबल 500 की सूची में 106वें स्थान पर

फॉर्च्यून के अनुसार  ‘इस साल रिलायंस इंडस्ट्रीज ग्लोबल 500 की सूची में 106वें स्थान पर है.  इसने आईओसी को पीछे छोड़ा है जो 117वें पायदान पर है.    हाल ही में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने वित्त वर्ष की पहली तिमाही के नतीजे जारी किये गये थे. नतीजों के हिसाब से कंपनी का मुनाफा सात फीसदी बढ़ गया है.  वहीं आय में 21.25 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की है.   कंपनी तेल से लेकर के टेलीकॉम के कारोबार से जुड़ी हुई है.  कंपनी को पहली तिमाही में 10,104 करोड़ रुपये का कंसोलिडेटेड मुनाफा हुआ है.  इस अवधि में कंपनी ने  1.61 लाख करोड़ रुपये  कमाये. पिछले साल की पहली तिमाही में कंपनी को 9,459 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था, वहीं आय 1.33 लाख करोड़ रुपये थी.

Related Posts

#EconomicSlowdown: #PMModi कीआर्थिक सलाहकार परिषद में दो नये चेहरों को जगह मिली   

सरकार के इस कदम को बाजार की हकीकत से वाकिफ होने और वास्तविकता तक पहुंचने के रूप में देखा जा रहा है.

WH MART 1

फॉर्च्यून के अनुसार  पिछले दस साल के दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज की कमाई में  सालाना 7.2 फीसदी की वृद्धि  हुई है,  2010 में यह 41.1 अरब डॉलर थी.  वहीं इस अवधि में आईओसी की आमदनी सालाना आधार पर 3.64 फीसदी बढ़ी है.  2010 में यह 54.3 अरब डॉलर थी.  फॉर्च्यून ग्लोबल 500 सूची में  ऑयल एंड नैचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी), भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई), टाटा मोटर्स, भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) और राजेश एक्सपोर्ट्स शामिल हैं.

ओएनजीसी ने इस सूची में 37 पायदान की छलांग लगाई है, जिसके बाद यह 160वें स्थान पर पहुंच गई है,  एसबीआई 20 स्थान खिसककर 236वें स्थान पर पहुंच गयी है.  टाटा मोटर्स 33 स्थानों के नुकसान के साथ 265वें स्थान पर है.  बीपीसीएल 39 पायदान चढ़कर 275वें स्थान पर पहुंच गयी है.

इसे भी पढ़ेंःआम्रपाली केस में बड़ा खुलासाः फ्लैट खरीददारों का पैसा धोनी की पत्नी साक्षी की कंपनी में हुआ ट्रांसफर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like